Manu Sharma/मनु शर्मा
लोगों की राय

लेखक:

मनु शर्मा
जन्म : सन् 1928 की शरत् पूर्णिमा को अकबरपुर, फैजाबाद।

मूल नाम : हनुमान प्रसाद शर्मा।

शिक्षा : काशी विश्वविद्यालय, वाराणसी।

‘आज नहीं तो कल, कल नहीं तो परसों, परसों नहीं तो बरसों बाद मैं डायनासोर के जीवाश्म की तरह पढ़ा जाऊँगा।’ इसी विश्वास के साथ मनु शर्मा की रचना-यात्रा खुद की बनाई पगडंडी पर जारी है। हिंदी की खेमेबंदी से दूर मनु शर्मा ने साहित्य की हर विधा में लिखा है। उनके समृद्ध रचना-संसार में आठ खंडों में प्रकाशित ‘कृष्ण की आत्मकथा’ भारतीय भाषाओं का विशालतम उपन्यास है। ललित निबंधों में वे अपनी सीमाओं का अतिक्रमण करते हैं तो उनकी कविताएँ अपने समय का दस्तावेज हैं।

सम्मान-अलंकरण : गोरखपुर वि.वि. से डी.लीट. की मानद उपाधि, उ.प्र. हिंदी संस्थान के ‘लोहिया साहित्य सम्मान’, केंद्रीय हिंदी संस्थान के ‘सुब्रह्मण्य भारती पुरस्कार’ तथा उ.प्र. सरकार के प्रतिष्ठित ‘यश भारती सम्मान’ से सम्मानित।

कृतियाँ :

उपन्यास : छत्रपति, तीन प्रश्न, राणा साँगा, शिवानी का आशीर्वाद, एकलिंग का दीवान, मरीचिका, गांधी लौटे, विवशता, लक्ष्मणरेखा, द्रौपदी की आत्मकथा, द्रोण की आत्मकथा, कर्ण का आत्मकथा, कृष्ण की आत्मकथा-1 (नारद की भविष्यवाणी), कृष्ण की आत्मकथा-2 (दुरभिसंधि), गांधारी का आत्मकथा, अभिशप्त कथा।

कहानी-संग्रह : पोस्टर उखड़ गया, मुंशी नवनीत लाल, महात्मा : (लँगड़ा हाजी, पत्ता टूटा डाल से, अंततः सलीब, महात्मा, ‘पक्का’ नं. 13, गुमशुदा, बंधन-मुक्ति, स्पर्श रोमांस, रोशनी कहाँ गई?, बर्फ नाम सत्य है।), दीक्षा : (दीक्षा, एक माँ मरी है, लक्ष्मण रेखा, अश्रव्य चीखें।)।

कविता-संग्रह : खूँटी पर टँगा वसंत।

निबंध-संग्रह : उस पार का सूरज।

कृष्ण की आत्मकथा - लाक्षागृह

मनु शर्मा

मूल्य: Rs. 300

‘कृष्ण की आत्मकथा’ का चौथा भाग   आगे...

कृष्ण की आत्मकथा - संघर्ष

मनु शर्मा

मूल्य: Rs. 300

‘कृष्ण की आत्मकथा’ का सातवां भाग   आगे...

खूँटी पर टँगा वसंत

मनु शर्मा

मूल्य: Rs. 150

जीवन के अकाव्यात्मक सत्य का काव्यात्मक वक्तव्य....   आगे...

गांधारी की आत्मकथा

मनु शर्मा

मूल्य: Rs. 400

गांधारी की आत्मकथा...   आगे...

गांधी लौटे

मनु शर्मा

मूल्य: Rs. 300

गांधी के जीवन पर आधारित पुस्तक   आगे...

छत्रपति

मनु शर्मा

मूल्य: Rs. 250

छत्रपति शिवाजी के जीवन की रोचक, रोमांचक व प्रेरणादायी घटनाओं का विश्लेषणपरक एवं प्रामाणिक विवेचन   आगे...

दीक्षा

मनु शर्मा

मूल्य: Rs. 150

दीक्षा   आगे...

द्रौपदी की आत्मकथा

मनु शर्मा

मूल्य: Rs. 200

नारी की अस्मिता को सम्मान देनेवाली अत्यंत पठनीय कृति।   आगे...

महात्मा

मनु शर्मा

मूल्य: Rs. 200

प्रस्तुत है श्रेष्ठ कहानी संग्रह...   आगे...

विभाजित सवेरा

मनु शर्मा

मूल्य: Rs. 300

मनु शर्मा के तीन उपन्यासों की श्रृंखला की यह तीसरी और अंतिम कड़ी है। इसका कालखंड आजादी के बाद का है।...   आगे...

 

 < 1 2  View All >>   20 पुस्तकें हैं|