Hindi Books on "Jain Religion" at Pustak.org
लोगों की राय

जैन साहित्य

माइ रिमेनेसेन्ट सोल

वीरेन्द्र कुमार जैन

मूल्य: Rs. 125

  आगे...

त्रिभंगी सार (मूल, हिन्दी, अँग्रेजी)

तारण स्वामी

मूल्य: Rs. 120

  आगे...

समयसार

आचार्य कुन्दकुन्द

मूल्य: Rs. 450

  आगे...

आप्त-मीमांसा

आचार्य सामन्तभद्र

मूल्य: Rs. 150

  आगे...

पाहुडदोहा (अपभ्रंश का रहस्यवादी काव्य)

मुनि रामसिंह

मूल्य: Rs. 160

भारतीय अध्यात्म की प्राचीनतम परम्परा में भावात्मक अभिव्यंजना को अभिव्यक्त करने वाला एक विशुद्ध रहस्यवादी काव्य.   आगे...

जैन दर्शन में नयवाद

सुखनन्दन जैन

मूल्य: Rs. 225

भारतीय दर्शन के क्षेत्र में 'नयवाद' जैनाचार्यों की एक मौलिक देन है.   आगे...

जैन पूजा काव्य (एक चिन्तन)

दयाचन्द

मूल्य: Rs. 160

भारतीय दर्शन और न्याय के अध्येता इस बात से अच्छी तरह परिचित है कि प्राचीन एवं मध्यकालीन भारत में जैन न्यायशास्त्रियों ने हिन्दू एवं बौद्ध न्यायशास्त्रियों के साथ वादानुवाद में जमकर भाग लिया है.   आगे...

नयचक (णयचक्को) (प्राकृत, हिन्दी)

माइल्ल धवल

मूल्य: Rs. 150

प्रस्तुत ग्रन्थ 'णयचक्को' आचार्य माइल्लधवल की एक श्रेष्ठ एवं अति महत्त्वपूर्ण रचना है.   आगे...

गोम्मटसार, कर्मकाण्ड (द्वितीय भाग)

आचार्य नेमिचन्द्र सिद्धान्त चक्रवर्ती

मूल्य: Rs. 430

जैन धर्म के जीवतत्त्व और कर्मसिद्धान्त की विस्तार से व्याख्या करने वाला महान ग्रन्थ है 'गोम्मटसार'.   आगे...

पज्जुण्णचरिउ (प्रद्युम्नचरित) (अपभ्रंश, हिन्दी)

महाकवि सिंह

मूल्य: Rs. 300

तेरहवीं शती की उत्तर-मध्यकालीन काव्य-विद्या में महाकवि सिंह कृत अपभ्रंश महाकाव्य 'पज्जुण्णचरिउ' (प्रद्युम्नचरित) भारतीय भाषा-साहित्य की एक महान कृति है.   आगे...

 

‹ First  < 5 6 7 8 9 >  Last ›  View All >> इस संग्रह में कुल 98 पुस्तकें हैं|