Anuradha Prakashan/अनुराधा प्रकाशन
लोगों की राय

अनुराधा प्रकाशन की पुस्तकें :

अट्ठन्नी वाले बाबूजी

पवन तिवारी

मूल्य: Rs. 200

इस उपन्यास में गांव की खूबियों के साथ ही कई समस्याओं को भी उजागर किया है।   आगे...

अधूरी आशिक़ी

नीरज कुमार त्रिपाठी

मूल्य: Rs. 125

व्यंग्य के लिए किसी विषय की आवश्यकता नहीं है यह तो बस आपके इर्द–गिर्द ही व्याप्त है। आज के भागते माहौल में अपनी बातों को छोटे शब्दों में प्रस्तुत करने की चेष्टा की है।   आगे...

आखिरी ई-मेल

ओम प्रकाश यादव

मूल्य: Rs. 160

दोनों एक ही कॉलेज में बी–टेक के छात्र थे। दोनों बहुत अच्छे दोस्त थे। दोनों साथ बैठकर लंच करते, शाम को एक साथ कॉलेज से बाहर निकलते और रोज फेसबुक पर घंटों बातें करते।   आगे...

आगरा 15 किलोमीटर

संजय दानी

मूल्य: Rs. 200

‘आगरा 15 किलोमीटर’ एक हिन्दी उपन्यास है जो भारत–पाकिस्तान के संबंधो पर आधारित है।   आगे...

आदमी तो सब जगह हैं

बिमला रावर सक्सेना

मूल्य: Rs. 250

‘आदमी तो सब जगह हैं’ के सूत्र में पिरोई गयी बिमला रावर सक्सेना की कवितायें उनकी ऐसी आप बीती का झरोखा है।   आगे...

आद्याशक्ति सहस्त्रोष्टोतर स्त्रोत

महेश चन्द्र सिंह अधिकारी

मूल्य: Rs. 100

अष्टोत्तर श्लोकों की एक विशेषता यह है कि एक नाम दुबारा नहीं आया है और नामवाली क्रमबद्ध करने पर समय लगा। उक्त कार्य में भगवान की कृपा और पुराणों के अध्ययन के अलावा किसी का सहारा नहीं लिया गया है।   आगे...

ईमानदार व्यक्ति की परिभाषा

कुशलेन्द्र श्रीवास्तव

मूल्य: Rs. 200

कुशलेन्द्र श्रीवास्तव की व्यंग्य रचनाओं में सामाजिक उत्तरदायित्व का भाव दृष्टिगत होता है।   आगे...

उरकलश

उषा मैसन लूथर

मूल्य: Rs. 200

अध्यात्म एवं जीवन मूल्यों को संजोए एकल काव्य संग्रह।   आगे...

उरदर्पण

उषा मैसन लूथर

मूल्य: Rs. 200

‘उरदर्पण’ पुस्तक में 165 रचनाओं का समावेश है।   आगे...

उरध्वनि

उषा मैसन लूथर

मूल्य: Rs. 200

आज की इस तनाव भरी और भीड़ भाड़ भरी जिंदगी में हर इंसान इतना मसरूफ है कि कहीं भी ठहराव नाम की कोई जगह नहीं है।   आगे...

 1 2 3 >  Last ›  View All >>   44 पुस्तकें हैं|