yogendra pratap singh/योगेन्द्र प्रताप सिंह
लोगों की राय

लेखक:

योगेन्द्र प्रताप सिंह

कबीर की कविता

योगेन्द्र प्रताप सिंह

मूल्य: Rs. 175

हिन्दी के गणमान्य आलोचकों की चिन्ता को ध्यान में रखकर इस कृति के माध्यम से कबीर के कवितात्व पर पड़े आवरणों को हटाकर उनके सृजन सन्दर्भ को स्पष्ट करना यहाँ मुख्य मन्तव्य है   आगे...

काव्य भाषा : अलंकार रचना तथा अन्य समस्याएँ

योगेन्द्र प्रताप सिंह

मूल्य: Rs. 100

बीसवीं शती में पश्चिमी साहित्य चिन्तन के प्रकाश में कविता की नई समीक्षा के आलोचनात्मक मानकों में काव्यभाषा पर आज अधिक बल दिया जा रहा है   आगे...

गोस्वामी तुलसीदास की जीवनगाथा

योगेन्द्र प्रताप सिंह

मूल्य: Rs. 250

गोस्वामी तुलसीदास की जीवनगाथा की मूल समस्या है कि इन पाँच सौ वर्षों के अवशेषों में बाबा को कहाँ खोजा जाए? यहाँ बाबा तुलसीदास की खोज का आधार उनकी कृतियाँ तथा पाठ हैं   आगे...

टूटते गांव बनते रिश्ते

योगेन्द्र प्रताप सिंह

मूल्य: Rs. 125

टूटते गांव बनते रिश्ते का आई पैड संस्करण   आगे...

तुलसी के रचना सामर्थ्य की विवेचना

योगेन्द्र प्रताप सिंह

मूल्य: Rs. 80

तुलसी की कृतियों में उनके आत्मानुभव एवं रचना दृष्टि के विकास का एक मानवीय सूत्र निश्चित रूप से परिलक्षित होता है   आगे...

देवकी का आठवाँ बेटा

योगेन्द्र प्रताप सिंह

मूल्य: Rs. 75

इस उपन्यास में श्रीकृष्ण की लीलाओं का वर्णन किया गया है....   आगे...

पहला कदम

योगेन्द्र प्रताप सिंह

मूल्य: Rs. 300

आज शिक्षक संस्थाएँ कैसी हैं? शिक्षक क्यों हैं? शिक्षा कैसी हे? -शिक्षण का प्रबन्ध-तन्त्र क्या है? सब-कुछ यह उपन्यास ही बतायेगा   आगे...

भारतीय काव्य शास्त्र की भूमिका

योगेन्द्र प्रताप सिंह

मूल्य: Rs. 150

भारतीय काव्य चिन्तन की दृष्टि कविता के स्थापत्य से जुड़ी है। काव्यसृजन शब्दार्थ का एक अद्वैत सहयोग है और कवि अपनी प्रतिभा के संयोग से इस शब्दार्थ में चित्त को विगलित करने की सामर्थ्य उत्पन्न करता है   आगे...

भारतीय भाषा में रामकथा

योगेन्द्र प्रताप सिंह

मूल्य: Rs. 350

अयोध्या शोध संस्थान, अयोध्या, फैजाबाद की 'साक्षी' शोध पत्रिका का सद्य: प्रकाशित विशेषांक ' 'भारतीय भाषाओं में रामकथा' ' पुस्तकाकार रूप में आपके सामने है   आगे...

भारतीय भाषा में रामकथा

योगेन्द्र प्रताप सिंह

मूल्य: Rs. 600

'भारतीय भाषाओं में रामकथा'' पुस्तकाकार रूप में आपके सामने है   आगे...

 

 1 2 >   View All >>   18 पुस्तकें हैं|