Acharya Chatursen/आचार्य चतुरसेन
लोगों की राय

लेखक:

आचार्य चतुरसेन

जन्म - 26 अगस्त, 1891 ई.।
मृत्यु - 2 फरवरी, 1960 ई.।
जन्म भूमि - बुलन्दशहर, उत्तर प्रदेश
जब भाग्य रुपयों से भरी थैलियां मेरे हाथों में पकड़ाना चाहता था—मैंने कलम पकड़ी। इस साहित्य-साधना में मैंने पाया कुछ भी नहीं, खोया बहुत कुछ है, कहना चाहिए, सब कुछ—धन, वैभव, आराम और शान्ति। इतना ही नहीं यौवन और सम्मान भी।

चालीस वर्षों तक निरन्तर साहित्य-साधना करते रहे। फलतः गुण और मात्रा दोनों दृष्टियों से हिन्दी-साहित्य की समृद्धि में उनकी देन महत्त्वपूर्ण है।

वह बहुमुखी प्रतिभा के कलाकार थे। साढ़े चार सौ कहानियों के अतिरिक्त उन्होंने बत्तीस उपन्यास तथा अनेक नाटक लिखे। साथ ही गद्यकाव्य, इतिहास, धर्म, राजनीति, समाज, स्वास्थ-चिकित्सा आदि विभिन्न विषयों पर भी उन्होंने लेखनी चलाई। उनकी प्रकाशित रचनाओं की संख्या 186 है। उनका कथा-साहित्य हिन्दी के लिए गौरव है।

उपन्यासों में ‘वैशाली की नगरवधू’, ‘सोमनाथ’, ‘वयं रक्षामः’ उनके बहुचर्चित उपन्यास हैं।

कृतियाँ :-

उपन्यास :- वयं रक्षामः, वैशाली की नगरवधु, सोमनाथ, सोना और खून : भाग-1, सोना और खून : भाग-2, सोना और खून : भाग-3, सोना और खून : भाग-4, खग्रास, पत्थर युग के दो बुत, बगुला के पंख, हृदय की प्यास, धर्मपुत्र, उदयास्त, अपराजिता,

कहानियाँ :- मेरी प्रिय कहानियाँ, बाहर-भीतर, दुखवा मैं कासे कहूँ, धरती और आसमान, सोया हुआ शहर, कहानी खत्म हो गई।

स्वास्थ्य-चिकित्सा :- स्वास्थ्य-रक्षा, नीरोग-जीवन, आदर्श भोजन, हमारा शरीर।

रसायन शास्त्र :- कीमियाँ (सोना बनाने की विधि)।

बालोपयोगी :- अच्छी आदतें, महापुरुषों की झाँकियाँ, चालाकी का बदला, बुलबुल की कहानी, भाई की विदाई, बात का धनी, रणबांका राठौर, केसरी सिंह की रिहाई।

वैशाली की नगरवधू

आचार्य चतुरसेन

मूल्य: Rs. 340

प्रस्तुत है बौद्धकालीन ऐतिहासिक उपन्यास....

  आगे...

सोना और खून

आचार्य चतुरसेन

मूल्य: Rs. 1340

चार भागों में, भारत में अंग्रेजी राज स्थापित होने की पूरी पृष्ठभूमि से आरंभ करके स्वतंत्रता प्राप्ति तक का संपूर्ण इतिहास

  आगे...

सोना और खून - भाग 1

आचार्य चतुरसेन

मूल्य: Rs. 335

भारत में अंग्रेजी राज स्थापित होने की पूरी पृष्ठभूमि से आरंभ करके स्वतंत्रता प्राप्ति तक का संपूर्ण इतिहास...

  आगे...

सोना और खून - भाग 2

आचार्य चतुरसेन

मूल्य: Rs. 335

भारत में अंग्रेजी राज स्थापित होने की पूरी पृष्ठभूमि से आरंभ करके स्वतंत्रता प्राप्ति तक का संपूर्ण इतिहास...

  आगे...

सोना और खून - भाग 3

आचार्य चतुरसेन

मूल्य: Rs. 335

भारत में अंग्रेजी राज स्थापित होने की पूरी पृष्ठभूमि से आरंभ करके स्वतंत्रता प्राप्ति तक का संपूर्ण इतिहास...

  आगे...

सोना और खून - भाग 4

आचार्य चतुरसेन

मूल्य: Rs. 335

भारत में अंग्रेजी राज स्थापित होने की पूरी पृष्ठभूमि से आरंभ करके स्वतंत्रता प्राप्ति तक का संपूर्ण इतिहास....

  आगे...

सोमनाथ

आचार्य चतुरसेन

मूल्य: Rs. 325

सोमनाथ की ऐतिहासिक लूट और पुनर्निर्माण की कहानी...   आगे...

सोया हुआ शहर

आचार्य चतुरसेन

मूल्य: Rs. 150

आचार्य चतुरसेन की कहानियों का संग्रह...   आगे...

 

 < 1 2 3  View All >>   28 पुस्तकें हैं|