लोना/lona
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

लोना  : वि० [हिं० लोन] [भाव० लोनाई] १. नमकीन। सलोना। २. लावण्ययुक्त। सुन्दर। पुं० १. नमक की तरह का वह सफेद पदार्थ जो सीड़ के कारण ईंट, पत्थर मिट्टी आदि की दीवारों में लगता है। इससे दीवार कमजोर होकर झड़ने लगती हैं। यह रोग प्रायः नींव की ओर से आरम्भ होता है और क्रमशः ऊपर बढ़ता है। नोना। क्रि० प्र०—लगना। २. वह धूल या मिट्टी जो लोना लगने पर दीवार से झड़कर गिरती है। यह खाद के रूप में खेत में डाली जाती है। क्रि० प्र०—झडना। ३. खार मिली हुई वह मिट्टी जिससे शोरा बनता है। ४. वह क्षार जो चने की पत्तियों पर इकट्ठा होता है, और जिसके कारण उसकी पत्तियाँ चाटने में खट्टी जान पड़ती हैं। ५. घोंघे की जाति का एक प्रकार का कीड़ा जो प्रायः नाव के पेदे में चिपका हुआ मिलता है। ६. अमलोनी नामक घास जिसका प्रयोग धातु सिद्ध करने में करते हैं। उदाहरण—कहाँ सो खोए बीरौ लोना।—जायसी। स० खेत में की तैयार फसल काटना। लवना। स्त्री० एक कल्पित चमारी जिसके नाम से ओझा लोग मंत्र आदि पढ़ते हैं।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लोनाई  : स्त्री० १. =लुनाई। २. =लवनी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लोनारा  : पुं० [हि० लोन०] वह स्थान जहाँ नमक निकलता बनता या बनाया जाता या मिलता हो।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ