बोह/boh
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

बोह  : स्त्री० [हिं० बोर, या सं० वाह] डुबकी। गोता। क्रि० प्र०—देना।—लगाना।—लेना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बोहड़  : पुं०=बड़ (बरगद)। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बोहथ्थ  : पुं०=बोहित। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बोहना  : अ० [हिं० बोह] डुबकी लगाना। स० [सं० वयन, हिं० बोना का पु० रूप] उत्पन्न करना। पैदा करना। उदाहरण—फटिक सिला के बाद बिसाल मन बिस्मय बोहत।—रत्ना०।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बोहनी  : स्त्री० [सं० बोधन=जगाना] १. दुकान खुलने अथवा दुकाने पर दीया जलाने पर या फेरीवालें की होनेवाली पहली बिक्री। २. उक्त बिक्री से प्राप्त हुआ धन। ३. लाक्षणिक अर्थ में कोई काम आरंभ करते ही होनेवाली प्राप्ति या सफलता।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बोहनी बटा  : पुं० [हिं०] किसी चीज की पहले-पहल होनेवाली बिक्री और उससे मिलनेवाला धन।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बोहरा  : पुं० [हिं० व्यवहारिया=व्यापारी] १. गुजरात और महाराष्ट्र राज्यों में रहनेवाले एक प्रकार के मुसलमान जो बहुधा व्यापार करते हैं। २. रोजगारी। व्यापारी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बोहारना  : स०=बुहारना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बोहारी  : स्त्री०=बुहारी (झाड़ू)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बोहित  : पुं० [सं० वोहित्य] १. नाव। २. जहाज़।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बोहित्थ  : पुं०=बोहित (जहाज)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बोहिया  : स्त्री० [देश] एक तरह की काली पत्तीवाली चाय।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बोहियाना  : स०=बहाना। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ