बैरक/bairak
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

बैरक  : पुं० [तु० बैरक़] १. छोटा झंडा। झंडी। २. अधिकार में लाई हुई अथवा जीती हुई जमीन में हाड़ा जानेवाला झंडा। मुहा०—बैरक बाँधना= कोई अनुष्ठान करने अथवा दूसरों को अपना अनुयायी बनाने के लिए झंडा करना। उदा०—अपने नाम की बैरक बाँधों सुबस बसौ इहि गाँव—सूर। स्त्री० [अं०] छावनी में वह इमारत अथवा इमारतों की श्रृंखला जिसमें सैनिक समूह रहते हों।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ