बृंहण/brnhan
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

बृंहण  : वि० [स्०√बृंह (वृद्धि करना)+ल्यूट्—अन] पोषक। पुष्टि। कर। पुं० १. पुष्ट करने की किया या भाव। २, एक प्रकार की मिठाई।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ