बिदर/bidar
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

बिदर  : पुं०=ब्रीदर (विदर्भ देश)। पुं०=विदुर (दे०)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बिदरन  : स्त्री० [सं० विदीर्ण] १. विदीर्ण होने अर्थात् फटने की अवस्था, क्रिया या भाव। २. दरज। दरार। वि० विदीर्ण करने या फाड़नेवाला। (यौ० के अंत में)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बिदरना  : अ० [सं० विदारण] १. विदीर्ण होना। फटना। उदाहरण—जो बासना न बिदरत अंतर तेई-तेई अधिक अनुअर चाहत।—सूर। २. नष्ट होना। स० विदीर्ण करना। फाड़ना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बिदरी  : वि०, स्त्री०=बीदरी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ