बाँस/baans
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

बाँस  : पुं० [सं० वंश] १. तृण जाति की गन्ने की तरह की एक गाँठदार वनस्पति, जिसके काण्ड बहुत मजबूत किन्तु अन्दर से खोखले होते हैं तथा छप्पर आदि छाने और इमारत के दूसरे कामों में आते हैं। मुहावरा—बाँस पर चढ़ना=(क) बहुत उच्च स्थिति तक पहुँचना। (ख) बहुत प्रसिद्ध होना। (ग) बहुत बदनाम होना। मुहावरा—(किसी को) बाँस पर चढ़ाना=(क) बहुत बढ़ा देना। बहुत उन्नत या उच्च कर देना। (ख) बहुत प्रसिद्ध करना। (ग) बहुत बदनाम करना। (घ) व्यर्थ की प्रशंसा करके घमंड या मिजाज बढ़ा देना। (कलेजा) बाँसों उछलना=कलेजे में बहुत अधिक धड़कन या विकलता होना। (व्यक्ति का) बाँसों उछलना=बहुत अधिक प्रसन्न होना। खूब खुश होना। २. लम्बई की एक माप जो सवा तीन गज की होती है। लाठी। ३. पीठ के बीच की हड्डी जो गरदन से कमर तक चली गयी है। रीढ़। ४. भाला। (डि० )
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाँसपूर  : पुं, ० [हिं० बाँस+पुरना] एक तरह की बढ़िया महीन मलमल।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाँसफल  : पुं० [हिं० बाँस+फल] एक प्रकार का धान। बाँसी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाँसली  : स्त्री० [हिं० बाँस+ली(प्रत्यय)] एक प्रकार का जालीदार लम्बी-पतली थैली जिसमे रुपया पैसा रखा जाता है और जो कमर में बाँधी जाती है। हिमयानी। स्त्री०=बाँसुरी (वंशी) (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाँसा  : पुं० [हिं० बाँस] १. बाँस का बना हुआ चोगें के आकार का वह छोटा नल जो हल के साथ बँधा रहता है। इसी में बोने के लिए अन्न भरा जाता है। अरना। तार। २. एक प्रकार की घास जिसकी पत्तियाँ बाँस की पत्तियों की तरह होती है। पुं० [सं० प्रियावास] १. पियाबाँसा नाम का पौधा जिसमें चम्पई रंग के फूल लगते हैं और जिसकी लकड़ी के कोयले से बारूद बनती थी। २. उक्त पौधे का फूल। पुं० [सं० वंश=रीढ़] १. रीढ की हड्डी। २. नाक के ऊपर की हड्डी जो दोनों नथुनों के बीचोबीच रहती है। मुहावरा—बाँसा फिर जाना=नाक का टेढ़ा हो जाना। (मृत्यु के बहुत समीप होने का लक्षण)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाँसिनी  : स्त्री० [हिं० बाँस] एक प्रकार का छोटा बाँस जिसे बरियाल, ऊना अथवा कुल्लूक भी कहते हैं।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाँसी  : स्त्री० [हिं० बाँस+ई (प्रत्यय)] १. एक प्रकार का छोटा पतला और मुलायम बाँस जिससे हुक्के के नैचे आदि बनते है। २. एक प्रकार का गेहूँ, जिसकी बाल कुछ-कुछ काली होती है। ३. एक प्रकार का धान जिसका चावल बहुत सुगंधित, मुलायम और स्वादिष्ट होता है। इसे बाँसफल भी कहते हैं। ४. एक प्रकार की घास जिसके डंठल कड़े और मोटे होते हैं। ५. एक प्रकार की चिड़िया। ६. कुछ सफेदी लिए हुए पीले रंग का एक प्रकार का पत्थर।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाँसुरी  : स्त्री० [हिं० बाँस] पतले बाँस का बनाया हुआ एक प्रसिद्ध बाजा जो मुँह से फूँककर बजाया जाता है। मुरली। वंशी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाँसुली  : स्त्री० [हिं० बाँस] १. एक प्रकार की घास जो अन्तर्वेद में होती है। २. बाँसुरी। वंशी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाँसुलीकंद  : पुं० [हिं० बाँसुली+सं० कंद] एक प्रकार का जंगली सूरन या जमींकंद जो गले में बहुत अधिक लगता है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ