बंचना/banchana
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

बचना  : अ० [सं० वचन-न पाना] १. उपयोग, कार्य, व्यय आदि हो चुकने के बाद भी कुछ अंश पास या शेष रह जाना। अवशिष्ट होना। जैसे—(क) दस रुपयों में से तीन रूपये बचे हैं। (ख) दो कुरते बन जाने पर भी गज भर कपड़ा बचेगा। २. बंधन विपद, संकट आदि से किसी प्रकार अलग या दूर या सुरक्षिक रहना। जैसे—वह गिरने से बाल-बाल बच गया। ३. किसी कार्य में संलग्न न होना अथवा दूसरों द्वारा किये जानेवाले कार्यों के परिणाम, प्रतिक्रिया प्रभाव आदि से अछूता रहना। जैसे—(क) किसी के आक्षेप से बचना। (ख) झूठ बोलने से बचना। ४. किसी का सामना करने या किसी के सम्पर्क में आने से घबराना या संकोच करना और सहसा उसका सामना न करना या उसके सम्पर्क में न आना। जैसे—वह तगादा करनेवालों से बचता फिरता है। ५. किसी गिनती, वर्ग, समाज आदि के अन्तर्गत न आना या न होना। छूट या रह जाना। जैसे—इनके व्यंग्य वाणों से कोई बचा नहीं हैं। स० [सं० वचन] कथन करना। कहना। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ