तोड़-जोड़/tod-jod
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

तोड़-जोड़  : पुं० [हिं० तोड़+जोड़] १. कहीं से कुछ तोड़ने और कहीं कुछ जोड़ने की अवस्था, क्रिया या भाव। उदाहरण–तोड़ी जो उसने मुझसे जोड़ी रकबी से। इन्शा तू अपने यार केयो तोड़-जोड़ देख। इन्शा। २. ऐसा उपाय, युक्ति या साधन जो किसी बिगड़ती हुई बात को बना सके अथवा बनी-बनाई बात बिगाड़ सके। जैसे–वह तोड़-जोड़कर जैसे–तैसे अपना काम निकाल ही लेता है। क्रि० प्र०–करना।–भिड़ना।–मिलाना।–लगाना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ