तेज/tej
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

तेज  : पुं० [सं० तेजस्] १. पाँच महाभूतों में से अग्नि या आग नामक महाभूत। २. गरमी। ताप। ३. कोई ऐसी तीव्रता या प्रभाव कारक विशेषता जिसके सामने ठहरना या जिसे सहना कठिन हो। जैसे–महात्माओं के चेहरे पर एक विशष प्रकार का तेज होता है। ४. प्रताप। ५. पराक्रम। बल। ६. कांति। चमक। ७. तत्त्व। सार। ८. वीर्य। ९. पित्त। १॰. लज्जा। ११. सत्त्व गुण से उत्पन्न लिंग शरीर। १२. घोड़ों आदि के चलने की तेजी या वेग। १३. सोना। स्वर्ण। १४. नवनीत। मक्खन। वि० [सं० तेजस् से फा० तेज] १. ऐसा उग्र प्रबल या विकट जिसे सहना कठिन हो। जैसे–तेज धूप। २. जिसकी गति में बहुत अधिक वेग हो। शीघ्रगामी। जैसे–तेज घोड़ा, तेज हवा। ३. जिसकी धार बहुत चोखी या पैनी हो। जैसे–तेज चाकू। ४. जिसका स्वाद बहुत चरपरा, झालदार या तीखा हो। जैसे–तेज मिर्च। ५. जिसमें कोई काम बहुत अच्छी तरह और जल्दी करने की विशेष बुद्धि, योग्यता या सामर्थ्य हो। जैसे–पढ़ने-लिखने में तेज लड़का। ६. बहुत जल्दी या यथेष्ट प्रभाव उत्पन्न करनेवाला। जैसे–तेज दवा। ७. बहुत अधिक या बढ़-चढ़कर बोलनेवाला। जैसे–उनकी औरत बहुत तेज है। ८. जिसमें चंचलता या चपलता की अधिकता हो। जैसे–यह बच्चा अभी से बहुत तेज है। ९. जिसका दाम या भाव अपेक्षया अधिक हो या पहले से बढ़ गया हो। जैसे–आज-कल अनाज और कपड़ा बहुत तेज हो गया हो।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजक  : पु० [सं०√तिज् (क्षमा करना)+ण्वुल्–अक] १. मूँज। २. सरपत।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजग  : वि०=तेज।(यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजधारी  : वि० [सं० तेजोधारिन्] (व्यक्ति) जिसके चेहरे पर तेज हो। तेजस्वी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजन  : वि० [सं०√तिज्+णिच्+ल्यु-अन] १. तेज उत्पन्न करनेवाला। २. दीप्त करनेवाला। ३. जल्दी जलने या जलानेवाला। पुं० १. बाँस। २. सरपत। ३. मूँज।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजनक  : पुं० [सं० तेजन+कन्] शर। सरपत।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजना  : स० [हिं० तजना] छोड़ देना। त्यागना। उदाहरण–तेजि अहं गुरु-चरन गहु जम से बाचें जीव।–कबीर।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजनाख्य  : पुं० [सं० तेजन-आख्या, ब० स०] मूँज।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजनी  : पुं० [सं० तेजन+ङीष्] १. मूर्वा। लता। २. मालकंगनी। ३. चव्य। चाब। ४. तेजबल।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजपत्ता  : पुं० [सं० तेजपत्र] १. दारचीनी की जाति का एक पेड़ जिसकी पत्तियाँ दाल, तरकारी आदि में मसाले की तरह डाली जाती हैं। २. उक्त वृक्ष का पत्ता जो वैद्यक में बवासीर हृदयरोग, पीनस आदि को दूर करनेवाला माना गया है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजपत्र  : पुं० [सं०√तिज् (सहना)+णिच्+अच्, तेज-पत्र, ब० स०] तेजपत्ता। तेजपात।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजपात  : पुं०=तेजपत्ता।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजबल  : पुं० [सं० तेजोबत्ती] १. एक तरह की छाल जिसकी छाल लाल रंग की होती है और बीज काली मिरच की तरह के होते है जों दवा के काम आते हैं। २. उक्त वृक्ष की छाल और बीज जो सुगंधित होते हैं।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजल  : पुं० [सं०√तिज् (सहना)+कलच्] चातक। पपीहा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजवंत  : वि०=तेजवान्।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजवान्  : वि० [सं० तेजोवान्] [स्त्री० तेजवत्ती] १. जिसमें तेज हो। तेज से युक्त। तेजस्वी। २. वीर्यवान्। ३. बलवान। शक्तिशाली। ४. कांतिमान्। चमकीला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजस्  : पुं० [सं०√तिज् (सहना)+असुन्] दे० ‘तेज’।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजस्-चिकित्सा  : स्त्री० [तृ० त०] दे० रश्मि चिकित्सा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजसी  : वि० [हिं० तेजस्वी] जिसमें तेज हो तेजस्वी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजस्कर  : वि० [सं०तेजस्√कृ(करना)+ट] तेज को प्रदीप्त करने या बढ़ानेवाला। तेज उत्पन्न करनेवाला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजस्काम  : वि० [सं० तेजस्√कम्(चाहना)+अण्] शक्ति या प्रताप की कामना करनेवाला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजस्क्रिय  : वि० [सं० ब० स०] (वह पदार्थ) जिसमें से तेज निकलकर दूसरे पदार्थों प्रभावित करता है। (रेडियो एक्टिव)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजस्क्रियता  : स्त्री० [सं० तेजस्क्रिय+तल्–टाप्] कुछ विशिष्ट मौलिक तत्त्वों या पदार्थों में निहित वह विद्युत शक्ति जो विशेष अवस्थाओं में तेज या रश्मि के रूप में बाहर निकलकर दूसरे पदार्थों पर प्रभाव डालती है। (रेडियो एक्टिविटी)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजस्वत्  : वि० [सं० तेजस्+मतुप् (वत्व)] तेजस्वी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजस्वान्  : वि० [सं० तेजस्वत्] तेजस्वी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजस्विता  : स्त्री० [सं०तेजस्विन्+तल्-टाप्] तेजस्वी होने की अवस्ता, गुण या भाव।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजस्विनी  : स्त्री० [सं० तेजस्विन्+ङीष्] मालकंगनी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजस्वी (स्विन्)  : वि० [सं० तेजस्+विनि] [स्त्री० तेजस्विनी] १. जिसमें यथेष्ट तेज हो। २. जिसके बल, बुद्दि वैभव आदि का दूसरों पर यथेष्ट प्रभाव पड़ता हो। प्रतापी। पुं० इंद्र के एक पुत्र का नाम।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजा  : पुं० [फा० तेज] १. एक प्रकार का काला रंग जिसमें कपड़ा रंगनेवाले रंगरेज मोरपंखी रंग बनाते हैं। २. चीजों का दाम तेज या बढ़ा हुआ होने की अवस्था या भाव। तेजी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजाब  : पुं० [फा०] [वि० तेजाबी] एक तरह के रासयनिक खट्टे तरल पदार्थ जो जल में घुलनशील होते है और जो नीले शेवल पत्र को लाल कर देते हैं। अम्ल। (एसिड)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजाबी  : वि० [फा०] १. तेजाब संबधी। २. जिसमें तेजाब मिला हुआ हो। ३. तेजाब की सहायता से तैयार किया बना या साफ किया हुआ। जैसे–तेजाबी सोना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजाबी सोना  : पुं० [फा० तेजाबी+हिं० सोना] वह सोना जो पुराने गहनों को गलाकर और तेजाब की सहायता से अच्छी तरह साफ करके तैयार किया जाता है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजायन  : पुं० [सं० तेज+आयतन] तेज का भंडार। परम तेजस्वी। उदाहरण–घोर तेजायतन घोर राशी।–तुलसी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजारत  : स्त्री०=तिजारत।(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजारती  : वि०=तिजारती।(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजिका  : स्त्री० [सं० तेजक+टाप्, इत्व] मालकंगनी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजित  : वि० [सं०√तिज्(सहना)+णिच्+क्त] १. तेज से युक्त किया हुआ। २. उत्तेजित।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजिनी  : स्त्री० [सं०√तिज्+णिच्+णिनि-ङीष्] तेजबल।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजिष्ठ  : वि० [सं० तेजस्विन्+इष्ठन्] तेजस्वी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजी  : स्त्री० [फा० तेजी] १. तेज होने की अवस्था, क्रिया गुण या भाव। २. उग्रता। प्रचंडता। ३. तीव्रता। प्रबलता। ४. गति आदि में होनेवाली शीघ्रता। ५. चीजों की दर या भाव में होनेवाली असाधारण या विशिष्ट वृद्धि। मँहगी। ‘मन्दी’ का विपर्याय।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोज  : पुं० [सं० तेजस√जन् (उत्पन्न होना)+ड] रक्त। खून।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोजल  : पुं० [सं० तेजस्+जल, ष० त०] आँख का वह ऊपरी अर्द्ध गोलाकार भाग जो शीशे के ताल की तरह जान पड़ता है। (लेंस)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोन्वेष  : पुं० [सं० तेजस्-अन्वेष, ष० त] एक प्रकार का बहुत बड़ा वैज्ञानिक यंत्र जिसकी सहायता से परावर्तित ध्वनि तरंगों के आधार पर यह जाना जाता है कि आकाश अथवा स्थल में किस दिशा में और कितनी दूरी पर शत्रु आकाशयान जल-यान अथवा सैनिक महत्त्व के संघटन स्थित हैं, अथवा कोई आकाशयान या जलयान किधर से आ रहा है या किधर जा रहा है। (राडार)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोबल  : पुं० [सं० तेजस्-बल, ब० स०] एक तरह का कँटीला जंगली पेड़ जिसका छिलका दवा और मसाले के काम आता है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोभंग  : पुं० [सं० तेजस्-भंग, ष० त०] अपमान। बेइज्जती।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोभीरु  : स्त्री० [सं० तेजस्-भीरु, पं० त०] छाया।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोमंडल  : पुं० [सं० तेजस्-मंडल, ष० त०] सूर्य, चंद्रमा आदि आकाशीय पिंडों के चारों ओर का मंडल। छटा मंडल। भा-मंडल।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोमंथ  : पुं० [सं० तेजस्√मन्थ् (मथना)+अण्] गनियारी का पेड़।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोमय  : वि० [सं० तेजस्-मयट्] १. तेज से परिपूर्ण। २. शक्ति से परिपूर्ण। ३. तेजस्वी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोमूर्ति  : वि० [सं० तेजस्-मूर्ति, ब० स०] तेजस्वी। पुं० सूर्य।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोरूप  : वि० [सं० तेजस्-रूप, ब० स०] जो अग्नि या तेज के रूप में हो। पुं० ब्रह्म।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोवती  : स्त्री० [सं० तेजस्-मतुप्+ङीप्] १. गजंपिप्पली। २. बाच। चव्य। ३. माल-कंगनी ४. तेजबल।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोवान्(वत्)  : वि० [सं० तेजस्+मतुप्] [स्त्री० तेजोवती] तेजवाला। तेजस्वी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोवृक्ष  : पुं० [सं० तेजस्-वृक्ष, मध्य० स०] छोटी अरणी का वृक्ष।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोहत  : वि० [सं० तेजस्-हत, ब० स०] जिसका तेल नष्ट हो चुका हो।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेजोह्व  : स्त्री० [सं० तेजस्√ह्रे (स्पर्धा करना)+क] १. तेजबल। २. चाब। चव्य।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ