तुलन/tulan
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

तुलन  : पुं० [सं०√तुल् (तौलना)+ल्युट–अन] तुलने या तौलने की अवस्था, क्रिया या भाव।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलना  : अ० [हिं० तौलना का अ०] १. काँटे तराजू आदि पर रखकर तौला जाना। २. भार या मान का हिसाब लगाया जाना या विचार होना। ३. उक्त प्रकार का विचार होने या हिसाब लगने पर किसी की बराबरी का या किसी के समान ठहरना। ४. किसी की बराबरी में होकर या उसके साथ अच्छी तरह मिलकर उसी के समान हो जाना। उदाहरण–सौकन ने पायजामा पहना है गुल-बदन का। फूलों में तुल रहा है, कांटा मेरे चमन का।–जानसाहब। ५. किसी आधार पर इस प्रकार ठहरना कि आधार से बाहर निकला हुआ कोई भाग अधिक बोझ के कारण किसी ओर झुका न हो। ठीक अंदाज के साथ टिकना। जैसे–बाइसिकल पर तुलकर बैठना। ६. अस्त्र शस्त्र आदि का इस प्रकार ठीक स्थान पर और ऐसे अन्दाज या हिसाब से स्थित होना कि वह लक्ष्य तक पहुँचकर अपना ठीक और पूरा काम करे। ७. कोई काम करने के लिए पूरी तरह से कटिबद्ध या सन्नद्ध होना। जैसे–किसी के साथ झगड़ा करने पर तुलना। संयो० क्रि०–जाना। ८. किसी चीज या बात की ठीक-ठीक अनुमान या कल्पना होना। ९. किसी चीज में पूरी तरह से भरा जाना। अ० [हिं० तूलना का अ०] गाड़ी के पहिए का औंगा जाना या उसमें तेल दिया जाना। तूला जाना। स्त्री० [सं०√तुल्+णिच्+युच्-अन, टाप्] १. दो या अधिक वस्तुओं के गुण, मान आदि के एक दूसरे से घट या बढ़कर होने का विचार। मिलान। तारतम्य। २. बराबरी। समता। ३. सादृश्य। ४. उपमा। ५. तौल। वजन। ६. गणना। गिनती।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलनात्मक  : वि० [सं० तुलना-आत्मन्, ब० स० कप्] जिसमें दो या कई चीजों के गुणों की समानता और असमानता दिखलाई गई हो। जिसमें किसी के साथ तुलना करते हुए विचार किया गया हो। जैसे–कबीर और नानक का तुलनात्मक अध्ययन।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलनी  : स्त्री० [सं० तुला] तराजू या काँटे की सूई में का दोनों तरफ का लोहा
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलनीय  : वि० [सं०√तुल्+अनीयर] तुलना किये जाने के योग्य। जिसकी या जिससे तुलना कि जा सके।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ