तुल/tul
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

तुलसी।  :
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुल  : वि०=तुल्य।(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलक  : पुं० [?०] राज-मंत्री।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलन  : पुं० [सं०√तुल् (तौलना)+ल्युट–अन] तुलने या तौलने की अवस्था, क्रिया या भाव।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलना  : अ० [हिं० तौलना का अ०] १. काँटे तराजू आदि पर रखकर तौला जाना। २. भार या मान का हिसाब लगाया जाना या विचार होना। ३. उक्त प्रकार का विचार होने या हिसाब लगने पर किसी की बराबरी का या किसी के समान ठहरना। ४. किसी की बराबरी में होकर या उसके साथ अच्छी तरह मिलकर उसी के समान हो जाना। उदाहरण–सौकन ने पायजामा पहना है गुल-बदन का। फूलों में तुल रहा है, कांटा मेरे चमन का।–जानसाहब। ५. किसी आधार पर इस प्रकार ठहरना कि आधार से बाहर निकला हुआ कोई भाग अधिक बोझ के कारण किसी ओर झुका न हो। ठीक अंदाज के साथ टिकना। जैसे–बाइसिकल पर तुलकर बैठना। ६. अस्त्र शस्त्र आदि का इस प्रकार ठीक स्थान पर और ऐसे अन्दाज या हिसाब से स्थित होना कि वह लक्ष्य तक पहुँचकर अपना ठीक और पूरा काम करे। ७. कोई काम करने के लिए पूरी तरह से कटिबद्ध या सन्नद्ध होना। जैसे–किसी के साथ झगड़ा करने पर तुलना। संयो० क्रि०–जाना। ८. किसी चीज या बात की ठीक-ठीक अनुमान या कल्पना होना। ९. किसी चीज में पूरी तरह से भरा जाना। अ० [हिं० तूलना का अ०] गाड़ी के पहिए का औंगा जाना या उसमें तेल दिया जाना। तूला जाना। स्त्री० [सं०√तुल्+णिच्+युच्-अन, टाप्] १. दो या अधिक वस्तुओं के गुण, मान आदि के एक दूसरे से घट या बढ़कर होने का विचार। मिलान। तारतम्य। २. बराबरी। समता। ३. सादृश्य। ४. उपमा। ५. तौल। वजन। ६. गणना। गिनती।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलनात्मक  : वि० [सं० तुलना-आत्मन्, ब० स० कप्] जिसमें दो या कई चीजों के गुणों की समानता और असमानता दिखलाई गई हो। जिसमें किसी के साथ तुलना करते हुए विचार किया गया हो। जैसे–कबीर और नानक का तुलनात्मक अध्ययन।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलनी  : स्त्री० [सं० तुला] तराजू या काँटे की सूई में का दोनों तरफ का लोहा
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलनीय  : वि० [सं०√तुल्+अनीयर] तुलना किये जाने के योग्य। जिसकी या जिससे तुलना कि जा सके।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलबुली  : स्त्री० [अनु०] जल्दबाजी।(यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलवाई  : स्त्री० [हिं० तौलवाना, तुलना] १. तौलाने की क्रिया, भाव या मजदूरी। २. दे० ‘तुलाई’। ३. पहियों को औंगने या तूलने (उनमें तेल देने) का पारिश्रमिक या मजदूरी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलवाना  : स० [हिं० तौलना का प्र० रूप] [स्त्री० तुलवाई] १. किसी को कुछ तौलने में प्रवृत्त करना। २. गाड़ी के पहिए की धुरी में तेल दिलाना। औंगवाना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलसारिणी  : स्त्री० [सं० तुर√स् (जाना)+णिनि-ङीष्, र-ल] तूणीर।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलसी  : स्त्री० [सं० तुला√सो (नष्ट करना)+क-ङीष्, पररूप] १. एक प्रसिद्ध पौधा जो बहुत पवित्र माना गया है और जिसकी पत्तियों में तीक्ष्ण गंध होती है। यह काली और धौली दो प्रकार की होती है। २. उक्त पौधे की पत्ती जो अनेक प्रकार के रोगों की नाशक तथा कफ और पित्त तथा अग्नि प्रदीपक, हृदय को हितकारी पित्त को बढ़ानेवाली मानी जाती है। ३. उक्त के बीज जो ढांस को कम करने तथा शुक्र को गाढ़ा करते हैं। पुं० गोस्वामी तुलसीदास (हिंदी के सुप्रसिद्ध कवि)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलसीघरा  : पुं० [सं० तुलसी+हिं० घर] आँगन के मध्य का वह स्थान जहाँ कुछ हिदू घरों में तुलसी के पौधे लगे होते हैं।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलसी दल  : पुं० [ष० त०] तुलसी के पौधे का पत्ता। तुलसी पत्र।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलसीदाना  : पुं० [हिं० तुलसी+फा० दाना] एक तरह का आभूषण।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलसी-द्वैष  : स्त्री० [सं० तुलसी√द्विष (द्वेष करना)+अण्–टाप्] बन–तुलसी। बर्बरी। ममरी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलसी पत्र  : पुं० [ष० त०] तुलसी का पत्ता।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलसीबास  : पुं० [हिं० तुलसी+बास-महक] एक तरह का अगहनी धान जिसकी चावल सुंगधित होता है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलसी-वन  : पुं० [ष० त०] १. वह स्थान जहाँ पर तुलसी के बहुत अधिक पौधे हों। तुलसी का जंगल। २. वृंदावन।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुला  : स्त्री० [सं०√तुल् (तोलना)+अङ्-टाप्] १. सादृश्य का मिलान। तुलना। २.चीजों का भार तौलने का तराजू। काँटा। पद–तुला दंड–। ३. भार का मान। तौल। ४. अनाज नापने का बरतन। भाँड। ५. प्राचीन काल की एक तौल जो १॰॰ पल या लगभग ५ सेर की होती थी। ६. ज्योतिष की बारह राशियों में से सातवीं राशि जिसके तारों की आकृति बहुत कुछ तराजू की तरह होती है। ७. प्राचीन वास्तु कला में, खंभे का एक विशिष्ट अंश या विभाग। ८. दे० ‘तुला परीक्षा’।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलाई  : स्त्री० [सं० तूल=रूई] कुछ छोटी पतली और हलकी रजाई। दुलाई। स्त्री० [हि० तौलना] तौलने की क्रिया, भाव या मजदूरी। स्त्री० [हिं० तुलना या तुलाना] गाड़ी के पहियों को औंगने या धुरी चिकना दिलवाने की क्रिया।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुला-कूट  : पुं० [ष० त०] १. इस प्रकार कोई चीज तौलना कि वह तुला पर अपने उचित तौल के क्रम चढ़े। तौलने में धोखेबाजी या बेईमानी करना। २. इस तरह तौलने में होनेवाली कमी या कसर। वि० [सं० तुला√कूट् (निन्दा करना)+घञ्] तौल में कमी या कसर करनेवाला। डाँडी मारनेवाला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुला-कोटि  : स्त्री० [ष० त०] १. तराजू की डंडी के दोनों छोर जिनमें पलड़े की रस्सी बँधी रहती है। २. प्राचीन काल की एक प्रकार की तौल या मान। ३. गणित में अर्बुद की संख्या। ४. घुँघरू। नुपुर।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुला-कोश  : पुं० [ष० त०] तुला-परीक्षा। (दे०)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुला-दंड  : पुं० [ष० त०] तराजू की वह डंडी जिसके दोनों सिरों पर पलड़े बँधे रहते हैं।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलादान  : पुं० [तृ० त०] अपने शरीर के भार के बराबल तौलकर दिया जानेवाला अन्न, वस्त्र आदि का दान।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलाधार  : पुं० [सं० तुला√धृ (धारण)+अण्] १. तुलाराशि। २. तराजू की वे रस्सियाँ जिनमें पलड़े बँधे रहते हैं। ३. वणिक्। बनिया। ४. एक प्रसिद्ध व्याध जिसने केवल माता-पिता की सेवा के बल पर मुक्ति पाई थी। वि० तुला धारण करने अर्थात् तराजू से चीजें तौलने का काम करनेवाला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलाना  : अ० [हिं० तुलना-तौल में बराबर आना] १. किसी चीज का तौला जाना। २. तुल्य या समान होना। पुरा पड़ना या होना। ३. नष्ट या समाप्त हो जाना। उदाहरण–नाचहिं राकस आस तुलसी।–जायसी। ४. आ पहुँचना। उदाहरण–काल समय जब आनि तुलानी।–ध्रवदास। स०=तुलवाना। स० [हिं० तुलना] गाड़ी के पहियों में तेल डलवाना। औंगवाना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुला-पत्र  : पुं० [ष० त०] वह पत्र जिसमें आय-व्यय तथा लाभ-हानि का लेखा लिखा रहता है। तट-पट। (बैलेन्स शीट)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुला-परीक्षा  : स्त्री० [तृ० त०] प्राचीन काल में होनेवाली एक तरह की परीक्षा जिससे यह जाना जाता था कि अभियुक्त दोषी है या निर्दोष।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुला-पुरुष-कृच्छ्र  : पुं० [सं० तुला-पुरुष, मध्य, स, तुला, पुरुष-कृच्छ्र, ष० त०] एक प्रकार का व्रत जिसमें पिण्याक (तिल की खली) भात, मट्ठा, जल और सत्तू में से प्रत्येक क्रमश- तीन-तीन दिन तक खाकर पंद्रह दिनों तक रहना पड़ता है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुला-पुरुष-दान  : पुं० [सं० तुला-पुरुष, मध्य० स० तुलापुरुष-दान, ष० त०] तुलादान
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुला-बीज  : पुं० [ष० त०] घुँघची के बीच।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलाभवानी  : स्त्री० [सं०] शंकर दिग्विजय के अनुसार एक नदी और उसके किनारे बसी हुई नगरी का नाम।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुला-मान  : पुं० [ष० त०] १. वह मान जो तौलकर निश्चित किया जाय। तौल कर निकाला हुआ भार या वजन। २. तराजू की डाँड़ी। ३. बटखरा। बाट।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुला-यंत्र  : पुं० [ष० त०] तराजू।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुला-यष्टि  : स्त्री० [ष० त०] तुला-दंड।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलावा  : पुं० [हिं० तुलना] ठेले आदि के अगले भाग में टेक या सहारे के रूप में लगाई जानेवाली वह लंबी लकड़ी जिससे ठेले का अगला भाग कुछ ऊंचा उठा रहता है और पिछला भाग कुछ नीचे झुक जाता है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुला-सूत्र  : पुं० [ष० त०] वह मोटी रस्सी जो तराजू की डंडी के बीच पिरोई रहती है और जिसे पकड़कर तराजू उठाते हैं।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलि  : स्त्री० [सं०√तुर् (शीघ्रता)+इन्, र-ल] १. जुलाहों की कूँची। हत्थी। २. चित्रकारों की कूँची। कलम।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलिका  : स्त्री० [सं०√तुल् (तोलना)+क्वन्-अक, टाप्, इत्व] एक तरह की चिड़िया।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलित  : वि० [सं०√तुल्+क्त] १. तुला हुआ। २. समान। बराबर।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलिनी  : स्त्री० [सं० तूल+इनि-ङीष्, पृषो० हृस्व] शाल्मली वृक्ष। सेमर का पेड़।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलि-फला  : स्त्री० [सं० ब० स० पृषो० हृस्व] सेमर का पेड़।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुली  : स्त्री० [सं० तुलि+ङीष्] छोटा तराजू। काँटा। स्त्री० [?] १. तमाकू। २. सुरती का पत्ता। स्त्री०=तुलि।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलुव  : पुं० [?] उत्तर कनाड़ा का एक प्राचीन नाम।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुलूली  : स्त्री० [अनु० तुलतुल] द्रव पदार्थ की पतली किंतु बँधी हुई धार। जैसे–पेशाब की तुलूकी। क्रि० प्र०–बँधना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुल्य  : वि० [सं० तुला+यत्] १. जो किसी की तुलना में समान हो। बराबर। २. अनुरूप। सदृश्य।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुल्यता  : स्त्री० [सं० तुल्य+तल्–टाप्] तुल्य होने की अवस्था या भाव। बराबरी। समता।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुल्य-पान  : पुं० [तृ० त०] छोटे-बड़े सब तरह के लोगों का एक साथ मिलकर मद्य आदि पीना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुल्य-प्रधान व्यंग्य  : पुं० [सं० तुल्य-प्रधान, ब० स०, तुल्य-प्रधान-व्यंग्य, कर्म० स०] साहित्य में ऐसा व्यंग्य जिसमें वाच्यार्थ और व्यंग्यार्थ बराबर हों। गुणीभूत व्यंग्य का एक भेद।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुल्ययोगिता  : स्त्री० [सं० तुल्ययोगिन्+तल्–टाप्] साहित्य में एक अलंकार जिसमे अप्रस्तुत अथवा प्रस्तुत पदार्थों के किसी एक धर्म से युक्त या सम्बद्ध होने का उल्लेख होता है। जैसे–उस सुन्दरी की कोमलता को देखकर किस तरूण के हृदय में मालती के फूल, चन्द्रमा की कला और केले के पत्ते कठोर नहीं जँचने लगे।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुल्ययोगी(गिन्)  : वि० [सं० तुल्य√युज्(जोड़ना)+णिनि] समान संबंध रखनेवाला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तुल्ल  : वि०=तुल्य।(यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ