डेरा/dera
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

डेरा  : पुं० [?] १. पैदल यात्रा आदि के समय अस्थायी रूप से बीच में ठहरने का स्थान। टिकान। पड़ाव। २. छाया आदि का प्रबंध करके अस्थायी रूप से ठहरने के लिए किया जानेवाला आयोजन या व्यवस्था। क्रि० प्र०–डालना।–देना।–पड़ना। पद–डेरा-डंडा (देखें)। मुहावरा–डेरा डालना=(क) किसी स्थान पर अस्थायी रूप से ठहरने की व्यवस्था करना। (ख) कहीं जाकर इस प्रकार ठहर या बैठ जाना कि जल्दी उठाने या चलने का ध्यान ही न रहे। ३. ठहरने या रहने का स्थान। निवास स्थान। जैसे–उनका डेरा यहाँ से बहुत दूर है। ४. विशिष्ट रूप से वह स्थान जहाँ गाने-नाचने आदि के पेशा करनेवालों का दल या मंडली रहती हो। जैसे–भाँड़ों या रंडियों का डेरा। ५. खेमा। तंबू। शमियाना। ६. शांत और स्थिर रहने की अवस्था या भाव। उदाहरण–हृदै नहिं डेरा सुधि खान की न पान की।–हठी। पुं० [देश०] एक प्रकार का छोटा जंगली पेड़ जिसकी लकड़ी सजावट के सामान बनाने के काम आती है। इसकी छाल और जड़ साँप काटने पर पिलाई जाती है। धरोली। वि० [?] [स्त्री० डेरी] बायाँ ‘दाहिने’ का उलटा। जैसे–डेरा हाथ।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
डेरा-डंडा  : पुं० [हिं०] वह खेमा तंबू या कनात तथा उसके साथ की रस्सियाँ, डंडे, खूँटे आदि जिनके योग से डेरा तैयार किया या बनाया जाता है। डेरा डालने की आवश्यक सामग्री। क्रि० प्र०–उखाड़ना।–उठाना।–हटाना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
डेराना  : अ०=डरना।(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है) स०=डराना।(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ