डिढ्या/didhya
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

डिढ्या  : स्त्री० [सं० तृष्णा] १.ऐसी उत्कट तृष्णा या लोभ जिसकी जल्दी तृप्ति न होती हो। २. लोभ-पूर्ण दृष्टि। लालच भरी निगाह।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ