डाँवाँ-डोल/daanvaan-dol
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

डाँवाँ-डोल  : वि० [डाँवाँ (अनु०)+हिं० डोलना] १. साधारणतया अचल या स्थिर रहने वाली वस्तु के संबंध में, जो सहसा किसी आघात के फलस्वरूप इधर-उधर हिलने-डुलने लगे। जैसे–हिलोर के कारण नाव या भूकंप के कारण पृथ्वी का डाँवाडोल होना। २. व्यक्ति अथवा उसके चित् के संबंध में, जो अधिक चिंतित या भावुक होने के कारण किसी निश्चिय तक पहुँच पाता हो। ३. स्थिति के संबंध में, जिसमें दो विभिन्न पक्षों में संतुलन न होने के कारण किसी परिणाम का ठीक-ठीक अनुमान न होता हो। जैसे–व्यापार का डाँवाँडोल होना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ