डाँड़ा/daanda
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

डाँड़ा  : पुं० [हिं० डाँड] १. डंडा। २. वह बड़ा डंडा जिसके आगे चप्पू लगा रहता है और जिसकी सहायता से नाव खेते या चलाते हैं। डाँड़ा। ३. सीमा। हद। पद–डाँड़ा मेंढ़ा=(देखें) होली का डाँड़ा और घास=लकड़ियों फूस आदि का वह ढेर जो होली की रात को जलाने के लिए पहले से ही अपने गाँव या मुहल्ले की सीमा पर इकट्ठा किया जाता है। ४. समुद्र का ढालुआँ रेतीला किनारा। (लश०)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
डाँड़ा-मेंड़ी  : स्त्री०=डाँड़ा-मेंड़ा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
डाँड़ा-सहेल  : पुं० [देश०] साँपों की एक जाति।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ