गोहार/gohaar
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

गोहार  : स्त्री० [सं० गो+हार (हरण)] १. प्राचीन भारत में वह चिल्लाहट या पुकार जो अपनी गौओं के छिन जाने या लुटेरों द्वारा लुट जाने पर मचाई जाती थी। २. कष्ट, संकट, हानि आदि के समय अपनी रक्षा या सहायता के लिए मचाई जानेवाली पुकार। मुहावरा–गोहार मारना=सहायता के लिए पुकार मचाना। गोहार लड़ना–पहलवानों आदि का अखाड़ें में उतरकर तथा दूसरे पहलवानों आदि को ललकार कर उनसे लड़ना। ३. चिल्लाकर लोगों को इकट्ठा होने के लिए पुकारना। चिल्लाहट। ४. शोर। हल्ला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गोहारी  : स्त्री० [हिं० गोहार] १. गोहार। २. किसी की क्षति पूरी करने के लिए दिया जानेवाला धन। (लश०) ३. बन्दरगाह में उचित से अधिक समय तक ठहरने के बदले में दिया जानेवाला धन। (लश०)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ