गुस्सा/gussa
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

गुस्सा  : पुं० [अ०] १. किसी के द्वारा कोई अनुचित कार्य, विरोध या हानि होने पर मन में होनेवाली वह उग्र भावना जिसमें उस वस्तु या व्यक्ति को तोड़ने-फोड़ने, मारने-पीटने या उसकी किसी प्रकार की हानि करने की इच्छा होती है। क्रोध। विशेष–इसमें मनुष्य स्वयं अपने पर नियंत्रण खो बैठता है और कभी-कभी अपनी हानि भी कर बैठता है। मुहावरा–(किसी पर) गुस्सा उतारना किसी को अपने क्रोध की प्रतिक्रिया या पात्र बनाना। (किसी पर) गुस्सा चढ़ना किसी पर क्रोध आना। गुस्सा निकालना क्रुद्र होने पर हानि करनेवाले की हानि करना। गुस्सा पीना=गुस्सा आने पर भी किसी से कुछ न कहना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ