गजर/gajar
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

गजर  : पुं० [सं० गर्ज० हिं० गरज से वर्ण-विपर्यय] १. प्राचीन काल में, एक एक पहर पर समय-सूचक घंटा या घड़ियाल बजने का शब्द। पारा। २. बहुत तड़के या प्रभात के समय बजनेवाले घंटे या घड़ियाल का शब्द। उदाहरण–सुबह हुई, गजर बजा, फूल खिले हवा चली।–कोई शायर। मुहावरा–गजरदम या गजरबजे बहुत तड़के या सबेरे। ३. आज-कल चार, आठ और बारह बजने पर उतनी बार घंटा बज चुकने के बाद फिर उतनी ही बार परंतु जल्दी-जल्दी फिर उतने ही घंटे बजने का शब्द। ४. आज-कल की घड़ियों में कुछ विशिष्ट यांत्रिक क्रिया से जगाने आदि के लिए घंटी के जल्दी-जल्दी और गन-गन करके बजने का शब्द। पुं० [हिं० गजर बजर-मिला-जुला] लाल और सफेद मिला हुआ गेहूँ।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गजर-दम  : क्रि० वि० [हिं० गजर+फा० दम] प्रभात के समय। बहुत सबेरे। तड़के।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गजर-प्रबंध  : पुं० [हिं० गजर+सं० प्रबंध] नाच-गाना आरंभ करने से पहले गाने और बजानेवालों का अपना स्वर और बाजे ठीक करना या मिलाना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गजर-बजर  : वि० [अनु०] बिना समझे-बुझे यों ही एक दूसरे के साथ मिलाया या रखा हुआ। पुं० बेमेल चीजों की एक दूसरी में मिलावट।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गजर-भत्ता  : पुं०=गजर-भात।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गजरभात  : पुं० [हिं० गाजर+भात] गाजर और चावल उबालकर बनाया जानेवाला मीठा भात।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गजरा  : पुं० [हिं० गंज-समूह] १. फूलों की घनी गुँथी हुई बड़ी माला। हार। २. उक्त प्रकार की एक छोटी माला जो कलाई पर गहने के रूप में पहनी जाती है। ३. मशरू नामका रेशमी कपड़ा। पुं० [हिं० गाजर] गाजर के पत्ते जो चौपायों को खिलाये जाते है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गजराज  : पुं० [ष० त० ] बहुत बड़ा हाथी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गजरी  : स्त्री० [हिं० गजरा] एक गहना जो स्त्रियाँ कलाई में पहनती है। स्त्री० [हिं० गाजर] एक प्रकार की छोटी गाजर।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गजरौट  : स्त्री० [हिं० गाजर+औट(प्रत्यय)] गाजर की पत्ती। गजरा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ