आशु/aashu
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

आशु  : पुं० [सं०√अश् (व्याप्ति)+उण्] १. सावन-भादों में होनेवाला एक प्रकार का धान। आउस। पाटल। साठी। २. घोड़ा। अव्य० जल्दी। शीघ्र।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
आशु-कवि  : पुं० [मध्य० स०] तुरंत कविता बनाने में समर्थ कवि। वह कवि जो किसी दिए हुए विषय पर अथवा किसी विशेष स्थिति में तत्काल कविता की रचना करता हो।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
आशुग  : वि० [सं० आशु√गम् (जाना)+ड] १. बहुत तेज चलनेवाला। शीघ्रगामी। २. (पत्र, तार आदि) जो पानेवाले के पास बहुत जल्दी पहुँचाया जाने को हो। (एक्सप्रेस) पुं० वायु। हवा। २. तीर। वाण।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
आशुगामी (मिन्)  : वि० [सं० आशु√गम्+णिनि] तेज चलनेवाला। पुं० सूर्य।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
आशु-तोष  : वि० [ब० स०] बहुत जल्दी या सहज में प्रसन्न हो जानेवाला। पुं० शिव।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
आशु-पत्र  : पुं० [मध्य० स०] वह पत्र जो भेजे जानेवाले (प्रेषिती) को बहुत जल्दी पहुँचाया जाय। (एक्सप्रेस लेटर)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ