आलाप/aalaap
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

आलाप  : पुं० [सं० आ√लप्(बोलना)+घञ्] १. कहना। बोलना। २. आपस में होनेवाली बात-चीत। जैसे—वार्तालाप। ३. चिड़ियों की चहचहाट। ४. संगीत में राग-रागिनों के गाने का वह विशिष्ठ आरंभिक अंश या प्रकार जिसमें तानयुक्त स्वरों में केवल धुन का प्रदर्शन होता है, गीत के बोलों का उच्चारण नहीं होता है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
आलापक  : वि० [सं० आ√लप्+ण्वुल्-अक] आलाप या बातचीत करनेवाला। २. संगीत में स्वरों का आलाप करनेवाला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
आलापचारी  : स्त्री० [सं० आलाप-चार] संगीत में, स्वरों का आलाप करने की क्रिया।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
आलापना  : स० =अलापना
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
आलापित  : भू० कृ० [सं० आ√लप्+णइच्+क्त] १. कहा हुआ। कथित। २. संगीत में, आलाप के रूप में उच्चरित किया हुआ। ३. गाया हुआ।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
आलापिनी  : स्त्री० [सं० आलाप+इनि-ङीष्] बाँसुरी। बंसी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
आलापी (पिन्)  : वि० [सं० आलाप+इनि वा आ√लप्+णिनि] [स्त्री०आलापिनी] =आलापक।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ