आगे/aage
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

आगे  : अव्य० [सं० अग्रे, प्रा० पं० अग्गे० गुज० अगवो० सिं० अगिआँ० अगी, बँ० आगे, का० आगे० ओग्] १. जिस ओर मुँह का अगला भाग हो, उस ओर, सामनेवाले भाग की ओर। समक्ष। संमुख। सामने। जैसे—(क) आगे देखकर चला करो। (ख) बड़ों के आगे इस तरह बढ़-बढ़कर बोलना ठीक नहीं। मुहावरा—(किसी चीज या बात का) आगे आना=(क) उपस्थित या घटित होना। जैसे—जो कुछ मैंने कहा था, वहीं सब आगे आया। (ख) किसी बात के परिणाम या फल के रूप में उपस्थित या घटित होनेवाला। बदला मिलना। जैसे—जैसा करोगे वैसा तुम्हारें आगे आयेगा। (किसी के) आगे आना=मुकाबला या सामना करने के लिए आकर उपस्थित होना। जैसे—देखें कौन उसके आगे आता हैं। (किसी को) आगे करना=(क) आगे की ओर चलाना या बढ़ाना। (ख) अगुआ नेता या मुखिया बनाना। जैसे—जब कोई बात होगी तब तुम्हीं को आगे कर देगें। आगे का पैर पीछे पड़ना=घबराहट चिंता भय आदि के कारण आगे बढ़ने का साहस न होना। (किसी के) आगे डालना, देना या रखना=किसी को खिलाने, देने आदि के लिए उसके सामने उपस्थित करना। जैसे—उसने अपना सारा भोजन उस भिखमंगे के आगे डाल (दे या रख) दिया। (किसी के) आगे निकलना=प्रतियोगिता या होड़ में किसी के आगे बढ़ जाना। श्रेष्ठ सिद्ध होना। जैसे—दरजे में तुम्हीं सब के आगे निकलोगे। आगे बढ़कर (किसी को) लेना-कुछ दूर आगे बढ़कर आगंतुक का स्वागत करना। आगे बढ़ना या होना=औरो की तुलना में सबसे पहले किसी काम या बात में सम्मिलित या साहयक होना। जैसे—उस संकट की स्थिति में वही सबसे आगे बढ़ा था। (किसी के) आगे(कुछ) होना-बाल=बच्चा या संतान होना। जैसे—कौन कहे तुम्हारें आगे दो चार बाल-बच्चे हैं। पद—आगे का कपड़ा=(क) आँचल। (ख) घूँघट। (स्त्रियाँ) २. किसी की उपस्थिति में या सामने। जैसे—तुम सब के आगे मेरी निंदा करते फिरते हो। ३. जीवित रहने या वर्त्तमान होने की दशा में। जैसे—तुम्हारे आगे जो कुछ होगा वहां हो जायगा, नहीं तो बाद में कोई कुछ न करेगा। ४. इसके अनंतर उपरांत या बाद। जैसे—अब आगे कै सुनो हवाल। -आल्हा। ५. आनेवाले समय में। भविष्य में। जैसे—आगे जो होगा देखा जायगा। पद—आगे आगे=भविष्य में। जैसे—आगे आगे देखिए होता है क्या। मुहावरा—आगे को-कुछ दिनों बाद। भविष्य में। जैसे—समझ लो आगे को ऐसा न होने पावे। आगे चलकर=भविष्य में। जैसे—कौन जाने आगे चलकर क्या होगा। ६. इससे पहले। जैसे—आगे हमारी बात सुन लो, तब अपनी कहना। ७. कुछ दूर और आगे बढ़ने पर। जैसे—आगे एक तालाब मिलेगा। पद—आगे पीछे (देखें)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
आगे-पीछे  : अव्य० [हिं० आगे+पीछे] १. कभी आगे की ओर कभी पीछे की ओर। जैसे—जब देखो तब तुम उन्हीं के आगे पीछे लगे रहते हो। २. आगे भी और पीछे भी। जैसे—दस-पाँच आदमी सदा उनके आगे-पीछे लगे रहते हैं। ३. एक के बाद एक। निश्चित क्रम से। जैसे—सब लड़के आगे-पीछे होकर चलें। ४. आस-पास इधर-उधर। जैसे—अच्छी तरह देखो पुस्तक वहीं कही आगे पीछे होगी। ५.कभी (अथवा कहीं) पहले और कभी (अथवा कहीं) बाद में। जैसे—आगे-पीछे सभी को यहाँ से चलना है। ६. अव्यवस्थित क्रम से। इधर-उधर। तितर-बितर। जैसे—लड़कों ने सब कागज आगे पीछे कर दिये। ७. अवकाश या फुरसत मिलने पर। जैसे—पले अपना पाठ याद करो और काम आगे पीछे होते रहेगें। ८. पारिवारिक संबंध के विचार से। नाते रिश्ते में। जैसे—जब तुम्हारें आगे पीछे कोई है ही नही तब क्यों व्यर्थ इतना परिश्रम करते हों।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ