अरद/arad
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

अरदंड  : पुं० [देश०] एक प्रकार का करील (वृक्ष)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
अरद  : वि० [सं० न० ब०] जिसके दाँत न हो। बिना दाँतोंवाला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
अरदन  : वि० [सं० ] बिना दांत का। पुं०=अर्दन।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
अरदना  : स० [सं० अर्द्दन] १. कष्ट पहुँचाना। २. नष्ट करना।(यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
अरदल  : पुं० [देश०] एक प्रकार का वृक्ष।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
अरदली  : पुं० [अं० आँर्डली] वह चपरासी जो बड़े किसी अधिकारी के आगे-पीछे चलता हो और उसकी छोटी-छोटी आज्ञाओं का पालन करता हो। मुहावरा—(किसी के) अरदली में चलना या रहना=किसी के आगे या पीछे अनुचर बनकर चलना या रहना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
अरदाना  : स० [सं० अर्दन] कुचलने का काम किसी दूसरे से कराना। अ० कुचला जाना।(यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
अरदावा  : पुं० [सं० अर्द से फा० आर्द] १. दला या कूटा हुआ अन्न। २. किसी चीज का कुचला हुआ और नष्ट-भ्रष्ट रूप। ३. भर्ता या भुरता नाम का सालन। चोखा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
अरदास  : स्त्री० [फा० अर्ज़दाश्त] १. निवेदन। प्रार्थना। उदाहरण—किय अरदासि ततांर तुच्छव रोज अज्ज रहो गेहे।—चंदवरदाई। २. कोई शुभकाम आरंभ करते समय किसी देवता से की जानेवाली मंगल कामना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ