हिन्दी की शब्द सम्पदा - विद्यानिवास मिश्र Hindi Ki Shabd Samprada - Hindi book by - Vidyanivas Mishra
लोगों की राय

नई पुस्तकें >> हिन्दी की शब्द सम्पदा

हिन्दी की शब्द सम्पदा

विद्यानिवास मिश्र

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2011
पृष्ठ :292
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 9445
आईएसबीएन :9788126715930

Like this Hindi book 3 पाठकों को प्रिय

37 पाठक हैं

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

हिन्दी की शब्द सम्पदा ललित निबन्ध की शैली में लिखी गई भाषाविज्ञान की यह पुस्तक अपने आपमें अनोखी है। इस नए संशोधित-संवर्द्धित संस्करण में 12 नए अध्याय शामिल किए गए हैं और कुछ पुराने अध्यायों में भी छूटे हुए पारिभाषिक शब्दों को जोड़ दिया गया है। जजमानी, भेड़-बकरी पालन, पर्व-त्यौहार और मेले, राजगीर और संगतरास आदि से लेकर वनौषधि तथा कारखाना शब्दावली जैसे जरूरी विषयों को भी इसमें शामिल कर लिया गया है।

अनुक्रमणिका में भी शब्दों की संख्या बढ़ा दी गई है। बकौल लेखक ‘‘यह साहित्यिक दृष्टि से हिन्दी की विभिन्न अर्थच्छटाओं को अभिव्यक्त करने की क्षमता की मनमौजी पैमाइश है : न यह पूरी है, न सर्वांगीण। यह एक दिङ्मात्र दिग्दर्शन है। इससे किसी अध्येता को हिन्दी की आंचलिक भाषाओं की शब्द-समृद्धि की वैज्ञानिक खोज की प्रेरणा मिले, किसी साहित्यकार को अपने अंचल से रस ग्रहण करके अपनी भाषा और पैनी बनाने के लिए उपालम्भ मिले, देहात के रहनेवाले पाठक को हिन्दी के भदेसी शब्दों के प्रयोग की सम्भावना से हार्दिक प्रसन्नता हो, मुझे बड़ी खुशी होगी।’’


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book