पल्टू बाबा रोड - फणीश्वरनाथ रेणु Paltu Babu Road - Hindi book by - Phanishwarnath Renu
लोगों की राय

सामाजिक >> पल्टू बाबा रोड

पल्टू बाबा रोड

फणीश्वरनाथ रेणु

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2015
पृष्ठ :128
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 9108
आईएसबीएन :9788126727209

Like this Hindi book 7 पाठकों को प्रिय

324 पाठक हैं

पल्टू बाबा रोड...

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

‘पल्टू बाबू रोड’ अमर कथाशिल्पी फणीश्वरनाथ रेणु का लघु उपन्यास है ! यह उपन्यास पटना से प्रकाशित मासिक पत्रिका ‘ज्योत्स्ना’ के दिसंबर, 1959 से दिसंबर, 1960 के अंकों में धारावाहिक रूप से छपा था ! रेणु के निधन के बाद 1979 में पुस्तकाकार प्रकाशित हुआ ! नई-नई कथाभूमियो की खोज करनेवाले रेणु ‘पल्टू बाबू रोड’ में एक कस्बे को अपनी कथा का आधार बनाते हैं ! वे कठोर, विकृत और हासोंमुख समाज को लेखकीय प्रखरता के साथ परखते है ! इस उपन्यास में रेणु अपने गाँव-इलाके को छोड़कर बैरगाछी कस्बे को कथाभूमि बनाते हैं ! इस कस्बे की नियति पल्टू बाबू जैसे काईयां, धूर्त, कामुक बूढ़े के हाथ में है ! उसने कस्बे के लिए ऐसी राह निर्मित की है जिस पर राजनीतिज्ञ, ठेकेदार, व्यापारी, वकील (पूरे कस्बे के लोग ही) चल रहे हैं ! लगता है, कस्बेवासी शतरंज के मोहरे हैं और पल्टू बाबू इनके संचालक ! इस उपन्यास का लक्ष्य है उच्च वर्ग के अंतर्विरोधों, उसकी गिरावट, राजनितिक और आर्थिक संबंधों में योंनव्यापर आदि का चित्रण ! निम्न वर्ग छिटपुट आया है ! आदर्शवादी पत्र विडम्बना से घिरे है ! भाषा प्रव्पूर्ण और अर्थ व्यंजक है !


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book