भूख को विकास का ताज बना दिया - सचिन कुमार जैन Bhookh ko Vikas Ka Taj Bana Diya - Hindi book by - Sachin Kumar Jain
लोगों की राय

विविध >> भूख को विकास का ताज बना दिया

भूख को विकास का ताज बना दिया

सचिन कुमार जैन

प्रकाशक : विकास संवाद प्रकाशित वर्ष : 2010
पृष्ठ :80
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 8888
आईएसबीएन :978890830249

Like this Hindi book 4 पाठकों को प्रिय

122 पाठक हैं

विकास एक प्रक्रिया है, यह तो चलती ही रहेगी...

Ek Break Ke Baad

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

विकास एक प्रक्रिया है, यह तो चलती ही रहेगी। इस मामले में हमारे हाथ शायद कुछ भी नहीं है। परन्तु विकास की प्रक्रिया मानवीय, गरिमामय और जिम्मेदार हो, यह सुनिश्चित करना तो हमारे हाथ में ही है।

हमारा विकास समाज के कुछ तबकों को अमीर और कुछ को गरीब न बनाए, यह तय करना ही हमारी राजनीति का केन्द्रीय सिद्धान्त होना चाहिये।

इसी परिप्रेक्ष्य में विकास के तराजू को समाज के वंचित समुदायों के पक्ष में लाने के लिए संयुक्त राष्ट्र संघ ने 8 सहस्राब्दि विकास लक्ष्य तय किये हैं।

यह माना गया था कि गरीबी और भुखमरी मानव विकास के सामने सबसे बुनियादी चुनौतियाँ हैं। गरीबी और भुखमरी के इसी सवाल पर यह तथ्यपरक पुस्तक है।

इस पुस्तक का मकसद है विकास लक्ष्य की चुनौतियों के जमीनी विश्लेषण को व्यापक मंचों पर लाना।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book