मनोविश्लेषण - सिगमंड फ्रायड Manovishleshan - Hindi book by - Sigmund Freud
लोगों की राय

विविध >> मनोविश्लेषण

मनोविश्लेषण

सिगमंड फ्रायड

प्रकाशक : राजपाल एंड सन्स प्रकाशित वर्ष : 2011
पृष्ठ :392
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 8838
आईएसबीएन :9788170289968

Like this Hindi book 7 पाठकों को प्रिय

286 पाठक हैं

‘ए जनरल इन्ट्रोडक्शन टु साइको-अनालिसिस’ का पूर्ण और प्रामाणिक हिन्दी अनुवाद

Manovishleshan (Sigmund Freud)

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

मनोविज्ञान के क्षेत्र में मनोविश्लेषण जैसी सूक्ष्म युक्ति की खोज तथा स्थापना का श्रेय सिगमंड फ्रायड को जाता है। उनकी इस खोज ने मानव मन की बहुत सी गुत्थियों को सुलझाया है और मनोविश्लेषण, मनोविज्ञान की एक स्वतंत्र शाखा के रूप में विकसित हुई है।

सिंगमंड फ्रायड का जन्म 6 मई 1856 को आस्ट्रिया में हुआ था। ‘ए जनरल इन्ट्रोडक्शन टु साइको-अनालिसिस’ उनका एक क्लासिक ग्रन्थ माना जाता है, जिसका प्रामाणिक अनुवाद यह पुस्तक है। इसके अतिरिक्त सिगमंड फ्रायड ने ‘एन इंटरप्रिटेशन ऑफ दि ड्रीम्स’ तथा ‘सिविलाइज़ेशन एण्ड इट्स कंटेंट’ जैसी महत्त्वपूर्ण पुस्तकें भी दी हैं जिनसे मनुष्य के यौन व्यवहार तथा उसके सपनों की व्याख्या की जा सकी है।

नई सदी के मनोवैज्ञानिक अब आगे सिगमंड फ्रायड के सिद्धांतों पर काम कर रहे हैं।



अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book