ओक भर किरनें - सुधा गुप्ता Oak Bhar Kiranen - Hindi book by - Sudha Gupta
लोगों की राय

कविता संग्रह >> ओक भर किरनें

ओक भर किरनें

सुधा गुप्ता

प्रकाशक : निरुपमा प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2011
पृष्ठ :96
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 8018
आईएसबीएन :9789381050071

Like this Hindi book 5 पाठकों को प्रिय

414 पाठक हैं

चोका (लम्बी कविता) संग्रह

Oak Bhar Kiranen - A Hindi Book by Sudha Gupta

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

चोका (लम्बी कविता) पहली से तेरहवीं शताब्दी में जापानी काव्य विधा में महाकाव्य की कथाकथन शैली रही है। मूलतः चोका गाए जाते रहे हैं। चोका का वाचन उच्च स्वर में किया जाता रहा है। यह प्रायः वर्णनात्मक रहा है। इसको एक ही कवि रचता है।

विश्व कविता
‘ब्रह्मानन्द सरीखा’
नन्हा हाइकु
जापान से आई ये
नवीन विधा
मन मोह लिया था
भारतीयों का
इसकी मिठास ने
हिन्दी हाइकु
जापान का ऋणी है
सदा रहेगा
जापानी हाइकु में
कवि हैं चार
स्थित कीर्ति-शिखर
बाशो थे संत
प्रकृति-सहचर
‘हाइकु-गुरु’
अनूठा चितेरा था
कवि बुसोन
और शब्द-शिल्पी भी
इस्सा ने जोड़ा
यथार्थ से हाइकु
‘भाव-कारुण्य’
मासा ओका शिकि ने
फूँका था शंख
नव-जागरण का
‘हाइकु-मुक्ति’
क्रान्ति, जनान्दोलन
इस प्रकार
जापानी कविता के
स्तम्भ हैं चार
हाइकु के आधार

बाशो, बुसोन
इस्सा और शिकि हैं
सदा अमर
फैला रहा सुरभि
चारु पुष्प-प्रकर...



अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book