श्रीमद्धभागवत प्रवचन - स्वामी तेजोमयानन्द Srimadbhagwat Pravachan - Hindi book by - Swami Tejomayananda
लोगों की राय

चिन्मय मिशन साहित्य >> श्रीमद्धभागवत प्रवचन

श्रीमद्धभागवत प्रवचन

स्वामी तेजोमयानन्द

प्रकाशक : सेन्ट्रल चिन्मय मिशन ट्रस्ट प्रकाशित वर्ष : 2003
पृष्ठ :977
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 1757
आईएसबीएन :81-7597-016-2

Like this Hindi book 9 पाठकों को प्रिय

245 पाठक हैं

प्रस्तुत है भगवान के अद्भुत लीला चरित्रों का वर्णन

Srimadbhagwat Pravachan

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

इसमें भगवान के तथा भगवद्भक्तों के ऐसे -ऐसे अद्भुत लीला चरित्रों का वर्णन है जिन्हें सुनकर या पढ़कर ह्रदय में परं प्रेम का आविर्भाव हुए बिना नही रहा जा सकता। साथ ही इसमें यह बताया गया है कि वह प्रेम,भगवत् प्रेम ही कैसे उसे सत्संग प्राप्त कराता है,सद्गुरु का उपदेश प्राप्त कराता है,जिससे मनुष्य के स्वरूप का,परमात्म स्वरूप का अनावरण हो जाता है,और जीवन काल में ही वह मुक्त हो जाता है।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book