लोगों की राय

कहानी संग्रह >> दस प्रतिनिधि कहानियाँ : राजी सेठ

दस प्रतिनिधि कहानियाँ : राजी सेठ

राजी सेठ

प्रकाशक : किताबघर प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2013
पृष्ठ :124
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 16794
आईएसबीएन :9789382114536

Like this Hindi book 0

प्रथम पृष्ठ

“दस प्रतिनिधि कहानियाँ” सीरीज़ किताबघर प्रकाशन की एक महत्त्वाकांक्षी कथा-योजना है, जिसमें हिन्दी कथा-जगत् के सभी शीर्षस्थ कथाकारों को प्रस्तुत किया जा रहा है।

इस सीरीज़ में सम्मिलित कहानीकारों से यह अपेक्षा की गई है कि वे अपने संपूर्ण कथा-दौर से उन दस कहानियों का चयन करें, जो पाठको, समीक्षकों तथा संपादकों के लिए मील का पत्थर रही हों तथा ये ऐसी कहानियाँ भी हों, जिनकी वजह से उन्हें स्वयं को भी कहानीकार होने का अहसास बना रहा हो। भूमिका-स्वरूप कथाकार का एक वक्तव्य भी इस सीरीज़ के लिए आमंत्रित किया गया है, जिसमें प्रस्तुत कहानियों को प्रतिनिधित्व सौंपने की बात पर चर्चा करना अपेक्षित रहा है।

किताबघर प्रकाशन गौरवान्वित है कि इस सीरीज़ के लिए सभी कथाकारों का उसे सहज सहयोग मिला है। इस सीरीज़ के महत्त्वपूर्ण कथाकार राराजी सेठ ने प्रस्तुत संकलन में अपनी जिन दस कहानियों को प्रस्तुत किया है, वे हैं : ‘उसका आकाश’, ‘तीसरी हथेली’, ‘अंधे मोड़ से आगे’, ‘पुल’ , ‘अमूर्त कुछ’, ‘तुम भी…?’, ‘अपने दायरे’, ‘ठहरो, इन्तजार हुसैन’, ‘उतनी दूर’ तथा ‘यह कहानी नहीं’।

हमें विश्वास है कि इस सीरीज़ के माध्यम से पाठक सुविख्यात लेखक राजी सेठ की प्रतिनिधि कहानियों को एक ही जिल्द में पाकर सुखद पाठकीय संतोष का अनुभव करेंगें।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book