लोगों की राय

कहानी संग्रह >> कानूनवाला'ज़ चैम्बर

कानूनवाला'ज़ चैम्बर

अपूर्व अग्रवाल

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2015
पृष्ठ :189
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 14064
आईएसबीएन :9788126728626

Like this Hindi book 0

क्रिमनल लॉ और जस्टिस की क्लासिकल रहस्यमयी-रोमांचक कहानियां, जिनमे न्याय-तंत्र की बीते सौ सालों की तस्वीरें हमारे सामने खुद-ब-खुद जिन्दा खड़ी हो जाती हैं।

प्रथम पृष्ठ

कहीं सत्य और न्याय की जीत, कहीं चरमराइ हुई व्यवस्था की हार। जुर्म, जुल्म, कानून और सजा की आग धधकती आंधी में झूलती-झुलसती जिंदगियाँ। हुस्न, आशिकी, प्रेम, सेक्स, दोस्ती, वैर-वैमनस्य, षड़यंत्र, पश्चाताप, आइडेंटिटी-थेफ़्ट, मर्डर के अस्त्रों और बेड़ियों से बंधी क्रिमनल लॉ और जस्टिस की क्लासिकल रहस्यमयी-रोमांचक कहानियां, जिनमे न्याय-तंत्र की बीते सौ सालों की तस्वीरें हमारे सामने खुद-ब-खुद जिन्दा खड़ी हो जाती हैं।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book