चतुरंग - दिलीप पुरुषोत्तम चित्रे Chaturang - Hindi book by - Dilip Purushottam Chitre
लोगों की राय

उपन्यास >> चतुरंग

चतुरंग

दिलीप पुरुषोत्तम चित्रे

प्रकाशक : राधाकृष्ण प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2015
पृष्ठ :176
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 13438
आईएसबीएन :9788183617864

Like this Hindi book 0

चतुरंग संग्रह के चारों कथानक अपूर्व, आकर्षक और रहस्यमयी लगते हैं

चतुरंग को बीसवीं शताब्दी के सातवें-आठवें दशक का मुंबई कॉस्मोपॉलिटन परिवेश एक नया आयाम प्रदान करता है। इसके साथ है दिलीप चित्रे की बिम्बधर्मी अभिव्यक्ति की कई शैलियों को अपनाने वाली सर्जनशील भाषा। चतुरंग संग्रह के चारों कथानक अपूर्व, आकर्षक और रहस्यमयी लगते हैं। महानगर की भीड़ में लगातार अपनी पहचान बनाने की जद्दोजहद में भटकते पात्र कहानी में एक अदभुत नाटकीयता पैदा करते हैं जो लेखक के अपने अनुभवों से निकले हुए प्रतीत होते हैं।

लोगों की राय

No reviews for this book