मोहन राकेश और उनके नाटक - गिरीश रस्तोगी Mohan Rakesh Aur Unke Natak - Hindi book by - Girish Rastogi
लोगों की राय

आलोचना >> मोहन राकेश और उनके नाटक

मोहन राकेश और उनके नाटक

गिरीश रस्तोगी

प्रकाशक : लोकभारती प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2015
पृष्ठ :146
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 13219
आईएसबीएन :9788180313387

Like this Hindi book 0

मोहन राकेश के नाटकों का यह अध्ययन वस्तुत: हिन्दी नाटक और रंगमंच की पूर्व स्थिति, उसकी उपलब्धियों और सीमाओं को भी सामने लाता है

मोहन राकेश के नाटकों का यह अध्ययन वस्तुत: हिन्दी नाटक और रंगमंच की पूर्व स्थिति, उसकी उपलब्धियों और सीमाओं को भी सामने लाता है। नाट्यभाषा और रंगमंच के अनेक पक्षों पर विचार करने के लिए यह सम्भवत: विवश करे। नाट्यसमीक्षा का स्वरूप भी इस पुस्तक में परम्परा से एकदम मित्र है।
नाट्यसमीक्षा के नये मापदण्ड सामने लाने में ही मोहन राकेश के नाटकों पर यह पुस्तक निश्चय ही मदद करेगी।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book