लोगों की राय

कविता संग्रह >> कविता कारण दुःख

कविता कारण दुःख

राजकुमार कुम्भज

प्रकाशक : लोकभारती प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2018
पृष्ठ :100
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 12340
आईएसबीएन :9789388211239

Like this Hindi book 0

प्रथम पृष्ठ

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

‘कविता कारण दुःख’ सुधि पाठकों को कुछ-कुछ अपना लगेगा और कुछ-न-कुछ बेहतर सोच-विचार के लिए प्रेरित व विवश भी करेगा। क्योंकि प्रारम्भिक तौर पर अति…संक्षिप्त दिखाई देने वाली इन कविताओं में बैशिबल-राजनीति और बैशिबल-कविता के अक्षांश का सारांश भी साज ही देखा जा सकता है। यह ज़रा भी अन्यथा नहीं है कि उनकी कविताओं का मूल स्वर मनुष्य, मनुष्यता, प्रेम और सत्ता-विरोध ही अधिक है। वे सामाजिक विदृश्यताओं के विपक्ष और आम आदमी की पीड़ा के यक्ष में सदैव ही मुस्तेदी से खड़े दिखाई देते है।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book