कहाँ पाऊँ उसे - समरेश बसु 'कालकूट' Kahan Paaun Use - Hindi book by - Samaresh Basu 'KalKoot'
लोगों की राय

उपन्यास >> कहाँ पाऊँ उसे

कहाँ पाऊँ उसे

समरेश बसु 'कालकूट'

प्रकाशक : भारतीय ज्ञानपीठ प्रकाशित वर्ष : 1993
पृष्ठ :698
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 10425
आईएसबीएन :

Like this Hindi book 0

बांग्ला साहित्य में 'कालकूट' नाम से विख्यात श्री समरेश बसु का उपन्यास है

बांग्ला साहित्य में 'कालकूट' नाम से विख्यात श्री समरेश बसु का उपन्यास है 'कहाँ पाऊँ उसे'. इस उपन्यास में कथा-नायक खोज में है जीवन और जगत के उस अन्तिम सत्य की, उस चरम उपलब्धि की, जो पग-पग पर अपनी छाया तो छोड़ती चलती है किन्तु पकड़ में नहीं आती. प्रेम, रोमांश और राग-विराग के इतने अदभुत पड़ाव साथ-साथ बहती नदी के तट पर आते हैं कि लगता है यहाँ बसे इन पात्रों के बन्धन से नायक मुक्त नहीं हो सकेगा.

लोगों की राय

No reviews for this book