अराजक उल्लास - कृष्णबिहारी मिश्र Arajak Ullas - Hindi book by - Krishna Bihari Mishra
लोगों की राय

लेख-निबंध >> अराजक उल्लास

अराजक उल्लास

कृष्णबिहारी मिश्र

प्रकाशक : भारतीय ज्ञानपीठ प्रकाशित वर्ष : 2007
पृष्ठ :198
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 10342
आईएसबीएन :9788126313716

Like this Hindi book 0

कृष्ण बिहारी मिश्र के इन निबन्धों को व्यक्तित्वपरक निबन्ध कहना तो ठीक है, लेकिन केवल ललित कह देने से उनके समर्थतर पक्ष की उपेक्षा हो जाती है

कृष्ण बिहारी मिश्र के इन निबन्धों को व्यक्तित्वपरक निबन्ध कहना तो ठीक है, लेकिन केवल ललित कह देने से उनके समर्थतर पक्ष की उपेक्षा हो जाती है। भाषा का लालित्य नहीं, आंचलिक जीवन से रागात्मक सम्बन्ध की समृद्धता ही उनका असल उर्जा-स्रोत है। और इस राग-बंध में कहीं भावुकता नहीं है :


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book