जनविजय - अजित पुष्कल Janvijay - Hindi book by - Ajit Pushkal
लोगों की राय

नाटक-एकाँकी >> जनविजय

जनविजय

अजित पुष्कल

प्रकाशक : भारतीय ज्ञानपीठ प्रकाशित वर्ष : 2008
पृष्ठ :52
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 10337
आईएसबीएन :9788126315680

Like this Hindi book 0

वरिष्ठ रंगकर्मी अजित पुष्कल का नाटक 'जन विजय' इतिहास शोध, विचार, संवेदना और भावसत्ता का एक समकालीन संस्करण है…

वरिष्ठ रंगकर्मी अजित पुष्कल का नाटक 'जन विजय' इतिहास शोध, विचार, संवेदना और भावसत्ता का एक समकालीन संस्करण है। यह नाटक अतीत को वर्तमान तक लाने का रचनात्मक उपक्रम है।

लोगों की राय

No reviews for this book