Sohanlal Ramrang/सोहनलाल रामरंग
लोगों की राय

लेखक:

सोहनलाल रामरंग
स्वांतः सुखाय कृतिकार, ओजस्वी वक्ता, सरस प्रवचनकर्ता, इतिहास तथा ज्योतिष के गंभीर अध्येता। काव्य-क्षेत्र में विविध विधाओं के आविष्कर्ता के साथ गद्य-क्षेत्र में भी उनकी गहरी पैठ है।

अनेक देशों की यात्रा कर चुके हैं। देश की अनेक धार्मिक-सामाजिक-साहित्यिक-सांस्कृतिक संस्थाओं से संबंधित होने के अतिरिक्त अंतरराष्ट्रीय तुलसी संगम के संस्थापक प्रधानमंत्री भी हैं। अनेक कृतियों पर पी-एच.डी. हेतु शोध प्रबंध स्वीकृत। दो विद्वान् डी.लिट्. में भी कार्यरत हैं।

प्रकाशित कृतियाँ :
  • उत्तर साकेत (महाकाव्य) दो खंड
  • युगपुरुष तुलसी (बृहद् उपन्यास) दो खंड
  • श्रीराम कथा की कथा (शोध कृति) दो खंड
  • स्वातंत्र्य समर सत्र (1857-1947)
  • श्रीहरि कीर्ति प्रभा (श्रीमद्भागवत संक्षिप्त रूप)
  • दिल्ली की रामलीलाएँ (शोधकृति)
के अतिरिक्त ग्यारह कृतियाँ प्रकाशित।
नौ कृतियाँ प्रकाशनाधीन।

कई राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय सम्मानों से विभूषित।

युगपुरुष तुलसी

सोहनलाल रामरंग

मूल्य: Rs. 800

युगपुरुष तुलसी - गोस्वामीजी की जीवनी - दो भागों मे   आगे...

युगपुरुष तुलसी - भाग 1

सोहनलाल रामरंग

मूल्य: Rs. 400

गोस्वामी तुलसी दास जी के जीवन पर आधारित उपन्यास...   आगे...

युगपुरुष तुलसी - भाग 2

सोहनलाल रामरंग

मूल्य: Rs. 400

गोस्वामी तुलसीदास जी के जीवन पर आधारित उपन्यास....   आगे...

श्रीभरत विजय

सोहनलाल रामरंग

मूल्य: Rs. 700

भगवान श्रीराम के समय में कैकय देश में गंधर्वों से भीषण युद्ध हुआ था। जिसका नेतृत्त्व भरत ने किया था। इस युद्ध में भरत को असंख्य गंधर्वों को मारना पड़ा था। इस कहानी को विस्तार में पढ़िए   आगे...

 

  View All >>   4 पुस्तकें हैं|