सुखी जीवन के तीन सत्य - सद्गुरु जग्गी वसुदेव Sukhi Jeevan ke 3 Satya - Hindi book by - Sadguru Jaggi Vasudev
लोगों की राय

नई पुस्तकें >> सुखी जीवन के तीन सत्य

सुखी जीवन के तीन सत्य

सद्गुरु जग्गी वसुदेव

प्रकाशक : मंजुल पब्लिशिंग हाउस प्रकाशित वर्ष : 2016
आईएसबीएन : 9788183227131 मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पृष्ठ :232 पुस्तक क्रमांक : 9525

Like this Hindi book 6 पाठकों को प्रिय

443 पाठक हैं

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

अपनी पहली सेल्फ-हेल्प पुस्तक द्वारा सद्गुरु हमें जीवन में खुशहाल रहने, अच्छे स्वस्थ्य, शांति, आनंद और संतुष्टि पाने का रास्ता दिखाते हैं। इसकी अनोखी शैली और निजी जीवन से लिए गए प्रसंग इसे बेहद रोचक बनाते हैं। विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से यह पुस्तक कई तरह के कारगर और व्यावहारिक उपाय, तथा स्वयं आज़माए जाने वाले अभ्यास प्रस्तुत करती है। यह पुस्तक हर उस व्यक्ति के पास होनी चाहिए जिसने एक संपूर्ण मनुष्य बनाने का संकल्प लिया है।

एक शानदार कृति। यह पाठकों को सच्ची खुशहाली तक ले जाने वाली जटिल यात्रा का बहुत सरल तरीके से वर्णन करती है। इस पुस्तक को अवश्य पढ़ा जाना चाहिए।

To give your reviews on this book, Please Login