कड़ियाँ - भीष्म साहनी Kariyan - Hindi book by - Bhishm Sahni
लोगों की राय

सामाजिक >> कड़ियाँ

कड़ियाँ

भीष्म साहनी

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2008
आईएसबीएन : 9788126714759 मुखपृष्ठ : सजिल्द
पृष्ठ :175 पुस्तक क्रमांक : 8245

Like this Hindi book 10 पाठकों को प्रिय

60 पाठक हैं

भीष्म साहनी का एक महत्त्वपूर्ण सामाजिक उपन्यास...

Kariyan - A Hindi Book - by Bhisham Sahni

भीष्म साहनी ने अपने लेखन में सामाजिक-नैतिक असंगतियों, मध्यवर्ग के दोहरे मानदंडों, परिवार व विवाह संस्थाओं के विरोधाभासों को निशाना बनाया है।

‘कड़ियाँ’ भीष्म साहनी का महत्त्वपूर्ण उपन्यास है। इसकी विषयवस्तु एक ऐसे मध्यवर्गीय परिवार से सम्बन्ध रखती है जो परम्परागत संस्कारों में जकड़ा हुआ है, लेकिन इसका मुख्य कथानक दाम्पत्य जीवन की कड़वाहट और स्त्री का असहाय स्थिति से सम्बन्धित है। एक तरफ रूढ़ नैतिक मान्यताएँ हैं जो पति-पत्नी के सम्बन्धों में दरार पैदा कर देती हैं और दूसरी तरफ पत्नी की आर्थिक परनिर्भरता है जिसके कारण उसे अनेक मानसिक यंत्रणाओं से गुजरना पड़ता है।

पुरुष प्रधान समाज में स्त्री के हिस्से आनेवाली पीड़ाओं और अत्याचारों का अंकन इस उपन्यास में बहुत बारीकी से किया गया है। तनाव और विघटन के क्षणों को उकेरने में लेखक ने विशेष कौशल का परिचय दिया है।

अन्य पुस्तकें

To give your reviews on this book, Please Login