लोगो की राय

गीता प्रेस, गोरखपुर >> गरुड़पुराण

गरुड़पुराण

गीताप्रेस

10.95

प्रकाशक : गीताप्रेस गोरखपुर प्रकाशित वर्ष : 2006
आईएसबीएन : 81-293-0285-3 पृष्ठ :614
मुखपृष्ठ : सजिल्द पुस्तक क्रमांक : 1192
 

गरुड़पुराण में भगवान के गरुड़ अवतार का वर्णन है....

Garun Puran A Hindi Book Gitapress गरुड़पुराण

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

।।श्रीहरि:।।

अठारह पुराणों में गरुड़महापुराण का अपना एक विशेष महत्व है। इसके अधिष्ठातृदेव भगवान् विष्णु है। अतः यह वैष्णव पुराण है। इस पुराण के स्वाध्याय से मनुष्य को शास्त्र-मर्यादा के अनुसार जीवनयापन की शिक्षा मिलती है। इसके अतिरिक्त पुत्र-पौत्रादि पारिवारिक जनों की पारमार्थिक आवश्यकता और कर्तव्यबोध का विस्तृत ज्ञान कराया गया है।

अन्य पुस्तकें

To give your reviews on this book, Please Login