जैन शिलालेख संग्रह - हीरालाल जैन Jain Shilalekh Sangrah - Hindi book by - Hiralal Jain
लोगों की राय

जैन साहित्य >> जैन शिलालेख संग्रह

जैन शिलालेख संग्रह

हीरालाल जैन

प्रकाशक : भारतीय ज्ञानपीठ प्रकाशित वर्ष : 2006
आईएसबीएन : 8126311126 मुखपृष्ठ : सजिल्द
पृष्ठ :464 पुस्तक क्रमांक : 10530

Like this Hindi book 0

जैन शिलालेख संग्रह में पहली बार देवनागरी में पाँच सौ शिलालेख हिन्दी-सार के साथ संगृहित हैं.

जैन शिलालेख संग्रह में पहली बार देवनागरी में पाँच सौ शिलालेख हिन्दी-सार के साथ संगृहित हैं. ये सभी आलेख प्रसिद्द जैन तीर्थ श्रवणबेलगोल नगर, यहाँ की चन्द्रगिरी और विन्ध्यगिरी दो पहाड़ियों तथा श्रवणबेलगोल के आसपास के ग्रामों व मठ-मन्दिरों में विद्यमान हैं. भारतीय भाषा-साहित्य, इतिहास, पुरातत्त्व एवं जैन धर्म-दर्शन के प्रकाण्ड विद्वान एवं व्याख्याता प्रो.हीरालाल जैन ने इन लेखों का विधिवत परिशीलन कर विस्तृत भूमिका के साथ इनके महत्त्व पर प्रकाश डाला है.

To give your reviews on this book, Please Login