शेष-अवशेष - रवीन्द्रनाथ त्यागी Shesh-Avashesh - Hindi book by - Ravindranath Tyagi
लोगों की राय

हास्य-व्यंग्य >> शेष-अवशेष

शेष-अवशेष

रवीन्द्रनाथ त्यागी

प्रकाशक : भारतीय ज्ञानपीठ प्रकाशित वर्ष : 2011
आईएसबीएन : 9788126320707 मुखपृष्ठ : सजिल्द
पृष्ठ :180 पुस्तक क्रमांक : 10460

Like this Hindi book 0

शेष-अवशेष' में रवींद्रनाथ त्यागी के व्यंग्य और उनके विविध रचनाएँ सम्मिलित हैं....

रवींद्रनाथ त्यागी की गणना उन व्यंग्य लेखकों में होती है, जिन्होंने अपनी व्यंजनाओं से हिन्दी गद्य को एक नया आयाम प्रदान किया. 'शेष-अवशेष' में रवींद्रनाथ त्यागी के व्यंग्य और उनके विविध रचनाएँ सम्मिलित हैं. व्यंग्य रचनाओं में विषय वैविध्य और शिल्प की चुटीली युक्तियाँ हैं. जिन विषयों पर लिखा गया है, वे केवल ठिठोली का कारण नहीं हैं. प्रत्येक व्यंग्य किसी न किसी विसंगति के उद्घाटन में अपनी सार्थक परिणति पाता है. विविध रचनाओं में व्यक्तिचित्र, संस्मरण और यात्रावृत्त शामिल हैं. 'शेष - अवशेष' एक अर्थ में रवीन्द्रनाथ त्यागी के सुदीर्घ लेखकीय जीवन का सुफल है. उनकी अंतिम कृति होने के नाते यह विशेष रूप से संग्रहणीय है.

अन्य पुस्तकें

To give your reviews on this book, Please Login