अज्ञेय रचना संचयन - सम्पा. कन्हैयालाल नन्दन Ajneya Rachana Sanchayan - Hindi book by - Kanhaiya Lal Nandan
लोगों की राय

संकलन >> अज्ञेय रचना संचयन

अज्ञेय रचना संचयन

सम्पा. कन्हैयालाल नन्दन

प्रकाशक : भारतीय ज्ञानपीठ प्रकाशित वर्ष : 2010
आईएसबीएन : 9788126319978 मुखपृष्ठ : सजिल्द
पृष्ठ :792 पुस्तक क्रमांक : 10456

Like this Hindi book 0

भारतीय साहित्य के कालजयी रचनाकारों में अग्रगण्य अज्ञेय का रचना-संसार हिन्दी का ऐश्वर्य है…

अज्ञेय रचना संचयन (मैं वह धनु हूँ...)' सच्चिदानन्द हीरानन्द वात्स्यायन 'अज्ञेय' की समर्थ व सार्थक रचना-सम्पदा से एक सोद्देश्य सोद्देश्य चयन है। भारतीय साहित्य के कालजयी रचनाकारों में अग्रगण्य अज्ञेय का रचना-संसार हिन्दी का ऐश्वर्य है। उन्होंने विविध विधाओं में विपुल एवं विलक्षण लेखन किया है। वे एक युगनिर्माता नेतृत्व-शक्ति सम्पन्न रचनाकार रहे हैं। व्यक्तित्व और कृतित्व की दृष्टि से अनुपमेय/अननुमेय अज्ञेय की प्रतिनिधि रचनाशीलता 'अज्ञेय रचना संचयन' में समाहित है। सुप्रसिद्ध साहित्यकार और सम्पादक डॉ. कन्हैयालाल नन्दन ने अज्ञेय की शब्द-साधना के उन पक्षों का चयन किया है, जिनसे अज्ञेय जैसे महत्त्वपूर्ण रचनाकार की एक परिपूर्ण छवि निर्मित होती है।

अन्य पुस्तकें

To give your reviews on this book, Please Login