हर बारिश में - निर्मल वर्मा Har Barish Mein - Hindi book by - Nirmal Verma
लोगों की राय

यात्रा वृत्तांत >> हर बारिश में

हर बारिश में

निर्मल वर्मा

प्रकाशक : भारतीय ज्ञानपीठ प्रकाशित वर्ष : 2006
आईएसबीएन : 8126312831 मुखपृष्ठ : सजिल्द
पृष्ठ :150 पुस्तक क्रमांक : 10405

Like this Hindi book 0

हिन्दी साहित्य के इतिहास में साठ का दशक, निर्मल वर्मा, चेकोस्लोवाकिया और यूरोप --- लगभग अभिन्न हो गए हैं.

हिन्दी साहित्य के इतिहास में साठ का दशक, निर्मल वर्मा, चेकोस्लोवाकिया और यूरोप --- लगभग अभिन्न हो गए हैं. इस दौरान निर्मल वर्मा ने यूरोप की धड़कन, उसके गौरव और शर्म के क्षणों को बहुत नजदीक से देखा-सुना. इस लिहाज से यह पुस्तक एक ऐसी नियतिपूर्ण घड़ी का दस्तावेज है, जब बीसवीं शती के अनेक काले-उजले पन्ने पहली बार खुले थे.

अन्य पुस्तकें

To give your reviews on this book, Please Login