ठूँठा आम - भगवतशरण उपाध्याय Thoontha Aam - Hindi book by - Bhagwatsharan Upadhyaya
लोगों की राय

लेख-निबंध >> ठूँठा आम

ठूँठा आम

भगवतशरण उपाध्याय

प्रकाशक : भारतीय ज्ञानपीठ प्रकाशित वर्ष : 2008
आईएसबीएन : 9788126315246 मुखपृष्ठ : सजिल्द
पृष्ठ :104 पुस्तक क्रमांक : 10364

Like this Hindi book 0

भारतीय सभ्यता, संस्कृति और समाज को प्रभावित करनेवाले कारकों की क्रिटिक है 'ठूँठा आम'….

भारतीय सभ्यता, संस्कृति और समाज को प्रभावित करनेवाले कारकों की क्रिटिक है 'ठूँठा आम'। कृतिकार भगवतशरण उपाध्याय भारतीय गौरव के गुणगायक रहे हैं। उन्होंने अपने लेखन में विविध भंगिमाएँ अपनाकर भारतीय परम्परा को प्रतिष्ठित किया है। बारह शीर्षकों में विभाजित इस संकलन में तत्कालीन अनेक विषयों पर स्केच और रिपोर्ताज हैं,

अन्य पुस्तकें

To give your reviews on this book, Please Login